ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
जिले के लैब की पहली पॉजीटिव हुई एक महिला
June 27, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

224 निगेटिव केस आए, विन्ध्याचल मंदिर के खुलने के पहले व्यापक इंतज़ामात की ज़रूरत, मुफ्त होम्योपैथिक दवा बंटी

मिर्जापुर ।
तेज आंधी के साथ घण्टे भर की मुसलसल बरसात ने वाराणसी से आने वाले कोरोना पॉजीटिव की खाट खड़ी कर दी लिहाजा वहां से तो कोई पॉजीटिव केस नहीं आया जबकि 224 निगेटिव रिपोर्ट आने से सुकून महसूस किया जा रहा था, अलबत्ता मंडलीय अस्पताल में बने लैब में लगी टूनेट मशीन की पहली पॉजीटिव एक महिला हुई है। इसके अलावा संचार माध्यमों से राष्ट्रीय स्तर पर कोरोना के बढ़ते ग्राफ का असर जिले में यह रहा कि पूरे नगर में कोरोना का टेम्पो हाई होता रहा जबकि जितना लोग पॉजीटिव मरीजों का आकलन पूरे दिन लगाते रहे, वह आकलन बिना सिर-पैर का ही रहा जबकि कोरोना को शिकस्त देने के लिए भारी मोर्चेबन्दी भी होती रही। फील्ड में निकल कर DM कोरोना टेस्ट लैब की चेकिंग कर रहे थे तो प्राइवेट अस्पतालों की चेकिंग का भी अभियान चलाया गया । इसी क्रम में कोरोना प्रतिरोधक हौम्योपैथिक दवा भी वितरित हुई।  दूसरी ओर 29 जून से विन्ध्याचल मंदिर खुलने का प्रचार-प्रसार व्यापक होने से मंदिर व्यवस्था की चुस्त प्लानिंग महसूस की जा रही है।
जिले के टेस्ट की पहली मरीज महिला हुई- नई इलाज-पद्धति में किसी भी ऑपरेशन के पहले तरह-तरह के टेस्ट में अब कोरोना टेस्ट भी जोड़ दिया गया है। इसी के तहत शुक्रवार, 26 जून को नगर के गैवीघाट की एक महिला का ऑपरेशन होना था। इस क्रम में टू-नेट मशीन में जांच हुई तो वह पॉजीटिव आ गई। जिले के टेस्ट की वह प्रथम मरीज हुई है वरना अभी तक रूटीन टेस्ट वाराणसी में ही चल रहा है।

कोरोना और विन्ध्याचल मंदिर- 29 जून से मंदिर खुलने के पण्डा समाज के निर्णय से श्रद्धालुओं में प्रसन्नता तो है लेकिन मंदिर खुलने के व्यापक प्रचार प्रसार को देखते हुए जबरदस्त इंतजाम की भी जरूरत महसूस की जा रही है। क्योंकि 100 दिनों से बंद मंदिर खुलते ही कितनी भीड़ आ जाएगी, यह तो नहीं कहा जा सकता लेकिन तमाम शुभ-कार्यों के ठप होने से मंदिर खुलते हर कोई दर्शन-पूजन करना चाहेगा। मंदिर पर तमाम प्रशासनिक प्रतिबंध तो रहेंगे ही। ज्यादा भीड़ होने पर स्थिति कैसे नियंत्रित होगी, किसे कहां से रोका जाएगा, इसके लिए नवरात्र मेले की तरह प्लानिंग बनाने की जरूरत है। कहीं एकाएक भीड़ से व्यवस्था बाधित न हो जाए। 25 जून को प्रशासन से पण्डा समाज और नगर विधायक की वार्ता के बाद मौखिक ही सहमति बनी थी।
कोरोना-कोरोना दिन भर लोग बोले-दिन भर कोरोना-कोरोना होता रहा । इधर नगर के कई मुहल्लों में पॉजीटिव केस आने का दुष्प्रभाव यह है कि लोग अब आकलन ज्यादा लगा रहे हैं। मुहल्लों का नाम ले लेकर यह बताते फिर रहे कि यहां भी एक पॉजिटिव केस निकला है। जिसे स्वास्थ्य अधिकारियों ने खारिज कर दिया।
लैब और प्राइवेट अस्पतालों का निरीक्षण- मंडलीय अस्पताल में हाल में स्थापित कोरोना-लैब का DM सुशील कुमार पटेल ने CMO डॉ ओपी तिवारी के साथ निरीक्षण किया तो स्वास्थ्य अधिकारियों ने प्राइवेट अस्पतालों की चेकिंग की। इस कड़ी में महिला अस्पताल में कांट्रैक्ट पर संचालित हेरिटेज अस्पताल की चेकिंग हुई और आवश्यक व्यवस्था के साथ कोरोना डेस्क हेल्प स्थापित किए जाने का निर्देश दिया गया। इसी के साथ मंडलीय अस्पताल में स्थित ट्रामा सेंटर की भी चेकिंग हुई। यहां कोरोना मरीजों के लिए 10 बेड का ICU एवं 30 बेड का वार्ड बनाया गया है।
महिला डॉक्टर की सेहत सामान्य- 19 जून को पॉजीटिव हुई महिला डॉक्टर क्वारन्टीन सेंटर में हैं लेकिन उनके शुभचिंतकों के अनुसार वे सहज और सामान्य हैं । उनका दूसरा स्वैब नहीं लिया गया है पर नए नियमों के अनुसार वे 10 दिन में मुक्त हो सकती है।
कोरोना से लड़ते दिखा हौम्योपैथिक विभाग इसके लिए वर्षा की परवाह न कर विभाग दवा बांटने निकला।शुक्रवार को गायत्री परिवार, फ़तहाँ और सिंचाई कार्यमण्डल में 500-500 कोरोना प्रतिरोधक आर्सेनिक एलबम-30 दवा दी गई। गायत्री परिवार ने पहले चिकित्सक दल का मंत्रोच्चार कर स्वागत किया। DHO मार्कण्डेय सिंह, आयुष दूत डॉ गौरव शर्मा एवं डॉ प्रवीण कुमार सिंह के साथ  आध्यात्मिक लेखक सलिल पांडेय भी मौजूद रहे जबकि सिंचाई कार्यमण्डल में SE से नव-पदोन्नत हुए मुख्य अभियन्ता अखिलेश कुमार सचान के निर्देश पर समस्त खंडों के लिए दवा स्टाफ ने ली। इस क्रम में गायत्री परिवार की ओर से सत्यशर्मा दुबे, ओंकारनाथ पाठक, एल के मिश्र, घनश्याम पांडेय, विमलेश चन्द तिवारी, जय सिंह एवं अवधेश कुमार तिवारी ने दवा लेकर सभी सदस्यों को वितरित करने का वादा किया।