ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
जनसंख्या विस्फोट के साथ में गंभीर संकट की आहट
August 29, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 
सरकारी अस्पतालों में प्रसव कराने वाली महिलाओं को जागरूक कर रहे पीपीआईयूसीडी 

डाक्टरों, स्टापफ नर्स, प्रसूताओं और उनके परिजनों को बता रहे परिवार नियोजन के लाभ 

फतेहपुर। महामारी में गर्भ निरोधक लेने और प्रयोग करने में काफी गिरावट आई है। लाक डाउन में निरोधक सामग्री घरों तक नहीं पहुंच पाई है। वहीं प्रवासी भी अधिक संख्या में वापस आए है। वे लंबे समय तक घरों में रहने पर विवष है। आने वाले समय में जनसंख्या विस्फोट होने की आशंका है। नतीजतन मातृ शिशु मृत्यु दर, कुपोषित बच्चों का जन्म, अवांछित गर्भ जैसी समस्या बढ सकती है। 
आपदा के समय में भी सरकारी अस्पतालों में प्रसव हो रहे हैं। इसलिये प्रसव के तुरंत बाद दिये जाने वाले गर्भ निरोधक साधन जैसे पीपीआईयूसीडी और छाया गोली पर विशेष ध्यान देने का निर्णय लिया है। नई रणनीति पीपीआईयूसीडी चैंपियन की शुरूआत की गई है। इसका उददेश्य प्रसव करा रहे डाक्टरों, स्टाफ नर्सो को प्रेरित करना है। प्रसव को आने वाली महिलाओं और उनके परिजनों को परिवार नियोजन के लाभ बताना और प्रसव के बाद स्वास्थ्य केंद्र भेजा उददेश्य है। इसके तहत सभी प्रसव कराने वाले जिम्मेदारों से फोन पर संपर्क किया गया। जो भी डाक्टर या स्टाफ नर्स सबसे ज्यादा महिलाओं को पीपीआईयूसीडी के प्रेरित करेगा उसे उस माह चैंपियन घोषित किया जायेगा। इसका उददेश्य एक स्वस्थ प्रतिस्पर्धा भी स्थापित करना है। अभियान के तहत हर सोमवार का दिन निर्धारित किया गया है। जिस दिन जिला परिवार नियोजन विशेषज्ञ द्वारा सभी प्रसव केंद्रों में फोन से पीपीआईयूसीडी के प्रगति की सूचना ली जाती है। ऐसे प्रसव केंद्रों का चयन किया जाता है। जहां सहयोग करने की जरूरत है। 
इनसेट 
आशा ही नहीं बल्कि पूरा विश्वास है कि पीपीआईयूसीडी चैंपियंस के इस सराहनीय कार्य से महाआपदा के समय में परिवार नियोजन कार्यक्रम को गति मिली है। मां और बच्चे की जान बचाने का संकल्प पूरा हो रहा है। 

 डा सूर्य प्रकाश अग्रवाल, सीएमओ 
इनसेट 
अभियान के लिये सोमवार का दिन निर्धारित किया। इस दिन परिवार नियोजन विशेषज्ञ सभी प्रसव केंद्रों से पीपीआईयूसीडी की प्रगति की सूचना लेते है। पूरी रिपोर्ट सीएमओ और एसीएमओ को दी जाती है।