ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
जनपद में सत्ता के अलंबरदारों का कहर जारी
September 24, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

जनपद में सत्ता के अलंबरदारों का कहर जारी

ढ़हाया पटेल नगर चौराहा पर स्थित मकान

फतेहपुर। जनपद में सत्ता के अलंबरदारों का कहर जारी है, समूचा प्रशासनिक/पुलिसिया सिस्टम इनके आगे जैसे नतमस्तक है। पिछ्ले दिनो शहर के अति चर्चित पटेल नगर इलाके में स्थित एक भवन के एक हिस्से का सूबे की योगी सरकार में काबिज एक असरदार अलंबरदार माननीय के गुर्गों द्वारा सबल बैनामा करवाया गया था, जिसमें मारपीट और फिर मुकदमेबाजी भी हुई थीं,

मामला अभी शान्त भी नहीं हो पाया था कि बैनामे वाले हिस्से के साथ साथ उपरोक्त भवन के अन्य दो हिस्सो के अधिकांश अगले भाग को आज सुबह भारी तामझाम के साथ ढहा दिया गया। बगैर किसी नोटिस एवं सूचना दिए जेसीबी लगाकर अचानक हुई तोड़फोड़ से यहां पर दशकों से काबिज बुक सेंटर, परचून की दुकान, क्लीनिक आदि का कीमती सामान नष्ट हो गया, जिनका लाखो का नुकसान अनुमानित है!
     गौरतलब है कि सत्ता के अलंबरदारों ने कोरोना संक्रमकाल को माकूल अवसर मानते हुए शहर की बेश कीमती जमीनों पर हाथ साफ करना जारी रखा है। सबसे पहले पटेल नगर चौराहे के भूखण्ड पर सबल कब्ज़ा किया गया। उसके बाद पूर्व मंत्री एवं बसपा नेता के मैरिज लान की विवादित जमीन पर सिस्टम के जिम्मेदारों ने पूरी रात काम चलवाकर कब्ज़ा दिलवा दिया। उसके बाद कुछ एक और मामलों में सत्ता के अलंबरदारों ने दम दिखाकर कब्ज़ा कर लिया। आज फिर वही कहानी दोहराते हुए संगीनों के साए में कायदे- कानून को मुंह चिढ़ाते हुए एक और पटकथा लिख दी गई।
      सवाल यह उठता है कि योगी राज में नियम- कानून के कुछ मायने बचे भी है या नहीं। आखिर प्रशासन और पुलिस के उच्च पदस्थ जिम्मेदार ऐसी अंधेरगर्दी होने कैसे दे रहें हैं। कौन है जिम्मेदारअंत्योगत्वा सवाल वहीं पर आकर सहम जाता है कि कौन कहे और किससे कहे 

 वैसे आज की घटना को लेकर लोगों में काफी रोष है और सत्ता से ही जुड़े अन्य लोग सरकार की हो रही तगड़ी फजीहत को ऊपर तक लेे जाने की बात कह रहें हैं।