ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
जहानाबाद के निकट द्वारिकापुर जट में विचित्र बीमारी का कहर, प्रशासन ने ना ली कोई खबर
August 20, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

जहानाबाद (फतेहपुर)।जहां पूरा देश एक तरफ कोरोनावायरस जैसी खतरनाक बीमारी से  लड़ रहा है वही दूसरी तरफ फतेहपुर जिले के जहानाबाद थाना अंतर्गत द्वारकापुरी जट ग्राम में विचित्र बीमारी से करीब दो दर्जन से अधिक लोग चारपाई पकड़े हुए हैं और कुछ लोगों में डेंगू जैसी खतरनाक बीमारी के भी लक्षण पाए जा रहे हैं जिसका कहीं ना कहीं वजह है ग्राम में फैली गंदगी व बजबजाती नालियों में कई महीनों पुराना भरा गंदा एवं सड़ा हुआ पानी जिस में पल रहे है खतरनाक मच्छर  एवं जीवाणु जो कि आए दिन नई नई बीमारियों को जन्म देते हैं प्रधान द्वारा गांव की साफ-सफाई पर ध्यान ना देना और साफ सफाई के प्रति उपेक्षित नजरिया गांव को संक्रमित बीमारियों की ओर धकेल रहा है गांव में  जगह जगह  गोबर एवं कूड़े के ढेर लगे हुए हैं गांव के ही अमित नरेश रामविलास श्रीकांत बुद्धा इत्यादि लोग करीब 1 सप्ताह से बीमार हैं जिसमें अमित और नरेश को डॉक्टरों ने डेंगू की पुष्टि कर दी है गांव में मरीजों की संख्या चिंताजनक स्थिति में है  परंतु अभी तक गांव वासियों की कोई खोज खबर ग्राम प्रधान द्वारा या मेडिकल टीम द्वारा नहीं ली गई है और ना ही कोई जांच करने हेतु मेडिकल टीम ग्राम में पहुंची है इस विकट स्थिति को देखते हुए बहुत बड़ी चिंता का विषय यह बना हुआ है कि अगर यही हालत बनी रही तो आने वाला समय बहुत ही कष्टदाई एवं चिंताजनक होगा गरीब और असहाय लोगों के पास इस बीमारी में जीवन यापन करना बहुत मुश्किल हो गया है ग्राम प्रधान के द्वारा भी ग्राम की देखभाल निरंतर ना करवा पाना भी एक बहुत बड़ा कारण है ग्राम वासियों गरीब और असहाय लोगों की चीख पुकार आला अधिकारियों तक नहीं पहुंच रही है जिसके चलते गांव में संक्रामक बीमारियों के खिलाफ ना ही कोई मुहीम चलाई जा रही है, गांव की सुरक्षा हेतु एवं डेंगू जैसी खतरनाक बीमारी से बचने के लिए ना ही कोई साधन किए जा रहे हैं आए दिन नए नए मरीज सामने आ रहे हैं इन मरीजों को इलाज हेतु कोई भी सुविधा उपलब्ध नहीं हो पा रही है अब देखना यह है कि आने वाले समय मैं स्थिति सुधरती है या और ज्यादा हालात गंभीर होंगे अगर समय पर इस बीमारी से इलाज हेतु और बचाव हेतु साधन ना किए गए तो आने वाला समय बहुत ही कष्ट दाई होगा और स्थिति और भी ज्यादा गंभीर हो सकती है।