ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
जहानाबाद बीजेपी विधायक की छत्र छाया के कारण अमौली ब्लॉक में सिकन्दपुर ग्राम प्रधान का है
October 11, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

जहानाबाद बीजेपी विधायक की छत्र छाया के कारण अमौली ब्लॉक में सिकन्दपुर ग्राम प्रधान का है बोलबाला नहीं है कोई रोकने वाला

अमौली (फतेहपुर) ।उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जहां एक ओर अपना एक बड़ा बयान जारी करते हुए कहा था कि गांव हो या शहर विकास कार्यों की समीक्षा कर जनपद के जिला अधिकारी सरकारी जमीन में होने वाले कब्जे को कब्जा मुक्त कराएं उनके इस बयान पर जनपद के जिला अधिकारी संजीव सिंह दिन रात एक कर जनपद की कई ऐसी जमीनों को कब्जा मुक्त कराया है जहां कई वर्षों से सरकारी जमीन पर बने मकानों को गिराने के साथ-साथ राजस्व की जमीन कब्जा मुक्त भी कराई है परंतु उनकी नजर अमौली ब्लॉक के सिकन्दपुर गांव में आखिर क्यों नहीं पड़ी ताजा मामला को बताते हैं कि सिकन्दपुर गांव के प्रधान अरविंद सिंह की दबंगई का गांव तो गांव पूरा अमौली ब्लॉक में चर्चा का विषय बना हुआ है दबंग प्रधान द्वारा गांव के लोगों को डरा धमकाकर कई जगह गांव समाज की जमीन पर अवैध कब्जा किये हुए है और खड़ंजे के ईट से अपना घर बनवा रहा है वहीं सूत्रों की माने तो सिकन्दपुर के प्रधान अरविंद सिंह  ने लोगों से कॉलोनी के नाम पर 20  हजार रुपए की वसूली भी की है और   क्षेत्र पंचायत के कार्य व रुस्तमपुर में बने शमशान घाट में बड़ा घोटाले की बात सामने आई है  और पशु चर की जमीन पर अपना  अवैध मकान बनवाने का कार्य  अरविंद सिंह ने बखूबी निभाया बाप बड़ा ना भैया सबसे बड़ा रुपैया वाली कहावत यहां पर पूरी तरीके चरितार्थ होती है प्रधान की दबंगई के बल पर गांव के ग्रामीण बोलने का साहस नहीं कर पाते उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए अपना नाम गुप्त रखने की बात कही है क्योंकि उन्हें डर है कि दबंग प्रधान कहीं उनके ऊपर फर्जी मुकदमे ना लगवा दें और उनको जेल की सलाखों के पीछे ना भिजवा दें अब सोचने वाली बात यह है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का सपना इसी तरीके साकार होगा या जनपद के जिलाधिकारी की नजर सिकन्दपुर गांव पर भी यह तो आने वाला समय ही तय करेगा।