ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
जदयू के खिलाफ उम्मीदवार उतारेगी लोजपा चिराग पासवान की अध्यक्षता में हुई अहम बैठक इस फैसले पर बनी सहमति
September 8, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

(न्यूज़)।चिराग पासवान की अध्यक्षता में सोमवार को लोजपा की बिहार प्रदेश संसदीय बोर्ड की बैठक हुई।इस बैठक में आगे सभी प्रकार के निर्णय के लिए चिराग पासवान को अधिकृत किया गया।
गठबंधन पर कोई भी फैसला लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान लेंगे लेकिन संसदीय बोर्ड ने बिहार की 143 सीटों पर उम्मीदवार देने का फैसला कर लिया। बैठक में यह फैसला चिराग पासवान की उपस्थिति में हुआ। मतलब साफ है कि आने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा के लिए सौ सीट छोड़कर शेष सभी सीटों पर लोजपा अपना उम्मीदवार देगी। वैसे भी लोजपा पहले ही कह चुकी है उसका गठबंधन जदूय से नहीं भाजपा है। 
चिराग पासवान ने अपने संबोधन में साफ कह दिया कि उनकी पार्टी जदयू के खिलाफ उम्मीदवार देगी। अगर ऐसे में पूर्व सीएम जीतन राम मांझी अपने स्टैंड पर कायम है तो साफ है कि हम पार्टी का उम्मीदवार लोजपा के खिलाफ तो होगा ही जदयू के खिलाफ भी लड़ेगा। 
लोजपा की प्रदेश संसदीय बोर्ड की बैठक में होने वाले फैसले पर राज्य के सभी राजनीतिक दलों की निगाहें सोमवार की सुबह से ही लगी थी। बैठक के बाद पार्टी के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष राजू तिवारी ने विज्ञप्ति जारी कर बताया कि बोर्ड जल्द ही राज्य की 143 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम केंद्रीय संसदीय बोर्ड को सौंप देगा। उन्होंने बताया कि बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को कालीदास कहने के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित किया गया। साथ ही बिहार चुनाव में गठबंधन में क्या तय होता है, वह सभी फैसले लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को तय करने के लिए अधिकृत किया गया है।
राजू तिवारी ने बताया कि बोर्ड की बैठक में सभी सदस्यों ने बिहार में होने वाली विधानसभा चुनाव के लिए अपनी राय रखी। बिहार संसदीय बोर्ड में कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा हुई। बैठक में इस बात पर भी चर्चा हुई कि पार्टी को 143 विधानसभा सीट पर प्रत्याशियों की सूची बनाकर जल्द केंद्रीय संसदीय बोर्ड को देनी है। बिहार चुनाव में गठबंधन में क्या तय होता है, वह सभी फैसले लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को तय करने के लिए अधिकृत किया गया है।