ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
इंडिया चाइना बॉर्डर को लेकर डिस्प्यूट:  आज होगी मेजर जनरल लेवल की बैठक
August 8, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • राष्ट्रीय

 

न्यूज़ आफ फतेहपुर

भारत और चीन में पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में सीमा विवाद जारी है। इस बीच शनिवार को दौलत बेग ओल्डी में दोनों देश मेजर जनरल स्तर की वार्ता करेंगे। दोनों सेनाएं वास्तविक नियंत्रण रेखा पर सेनाओं को पीछे हटाने को लेकर बातचीत करेंगी। यह जानकारी भारतीय सेना के सूत्रों ने दी। रणनीतिक तौर से महत्वपूर्ण डेपसांग क्षेत्र में तनाव कम करने की योजना पर भारत और चीन के बीच बातचीत होने की संभावना है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व 3 माउंटेन डिवीजन के जनरल ऑफिसर कमांडिंग, मेजर जनरल अभिजीत बापट करेंगे। सूत्रों ने कहा बैठक का एजेंडा डेपसांग पर तनाव को कम करना है, जहां दोनों पक्षों ने विवादित सीमा पर सैनिकों की बड़े पैमाने पर तैनाती की हुई है।
सूत्रों के मुताबिक इस बातचीत का अजेंडा देपसैंग इलाके में तनाव कम करना और विवादित सीमा से दूर हटने पर सहमति बनाना होगा। बता दें कि जीन ने देपसैंग में अपने 1500 से ज्यादा सैनिक तैनात कर रखे हैं। इधर भारत ने भी बड़ी संख्या में जवानों की तैनाती की है। जहां बातचीत होनी है यह जगह 16000 फीट की ऊंचाई पर है। भारत पहले भी चीन पर दबाव डाल चुका है कि वह अपने सैनिकों को पीछे हटा ले जिससे तनाव की स्थिति कम हो जाए हालांकि चीन अभी फिंगर एरिया से ज्यादा पीछे नहीं हटा है।
मई से ही चीन के सैनिक LAC पर काफी उग्र व्यवहार कर रहे हैं और इसी वजह से पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में हिंसक झड़प हो गई थी। इसमें भारत के सैनिक शहीद हुए थे और चीनी सैनिक भी मारे गए थे। इसके बाद तनाव बढ़ गया। हालांकि चीन बाद में पीछे हटने को मजबूर हो गया। अब भारत चाहता है कि चीन की टुकड़ियां फिंगर एरिया में न रहें जिससे दोबारा विवाद होने का चांस कम हो जाए। अभी तक चीन इसपर सहमत नहीं हुआ है। वहीं कई जगहों पर चीन के सैनिक भारतीय जवानों को गश्त भी नहीं करने दे रहे। इस मामले में भी आज बैठक में बात हो सकती है।