ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
इजरायल/बहरीन के बीच ऐतिहासिक शांति 
September 12, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

समझौता,मुसलमानों का अल अक्सा मस्जिद में स्वागत 

(न्यूज़)।इजरायल ने कहा है कि शांतिपूर्ण उद्देश्य के तहत सभी मुसलमान अल अकसा मस्जिद के अलावा येरूशलम में स्थित सभी धार्मिक स्थलों में भी आ सकते हैं,इजरायल और बहरीन ने कूटनीतिक संबंधों को पूरी तरह से बहाल करने के लिए एक ऐतिहासिक शांति समझौते को मंजूरी प्रदान की है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने ट्वीट किया, आज एक और ऐतिहासिक सफलता। हमारे दो महान मित्र देश इजरायल और बहरीन के बीच आज एक शांति समझौते को लेकर सहमति बनी है। इजरायल के साथ 30 दिनों के भीतर शांति समझौता करने वाला बहरीन दूसरा अरब देश बन गया है। इजरायल और बहरीन के बीच यह शांति समझौता अमेरिकी राष्ट्रपति की ओर से की गयी मध्यस्थता के कारण संभव हो पाया है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने एक अन्य ट्वीट में इस शांति समझौते के बाद जारी संयुक्त वक्तव्य का भी उल्लेख किया। संयुक्त वक्तव्य के मुताबिक अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प, बहरीन के शाह हमाद बिन इसा बिन सलमान अल- खलीफा और इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने आज फोन पर बात की और इजरायल तथा बहरीन के बीच कूटनीतिक संबंधों को पूरी तरह से बहाल करने पर सहमति व्यक्त की है। एक-दूसरे के हकों की हिमायत पश्चिम एशिया में शांति स्थापित करने की दिशा में यह एक ऐतिहासिक कदम है। इजरायल और बहरीन जैसी दो विकसित अर्थव्यवस्थाओं और गतिशील समाज के बीच बातचीत एवं सहयोग स्थापित करने से पश्चिम एशिया की मौजूदा स्थिति में सकारात्मक बदलाव होगा और इससे क्षेत्र में शांति, सुरक्षा, स्थिरता और समृद्धि बढ़ेगी। अमेरिका ने बहरीन की राजधानी मनामा में 25 जून 2019 को 'शांति से लेकर समृद्धि' नामक एक ऐतिहासिक कार्याशाला आयोजित कराने को लेकर बहरीन का गहरा आभार भी व्यक्त किया है। इस समझौते के तहत फिलीस्तीनी लोगों के लिए शांति, सम्मान और आर्थिक अवसर उपलब्ध कराने की दिशा में प्रयास किए जायेंगे। इस समझौते के तहत इजरायल और बहरीन ने फिलीस्तीनी विवाद का समाधान करने को लेकर सहमति जताई है, इजरायल ने कहा है कि शांतिपूर्ण उद्देश्य के तहत सभी मुसलमान अल अकसा मस्जिद के अलावा येरूशलम में स्थित अन्य सभी धार्मिक स्थलों में भी आ सकते हैं। बहरीन के शाह हमाद और इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने इस शांति समझौते के लिए राष्ट्रपति ट्रम्प के प्रति गहरा आभार व्यक्त किया है। गौरतलब है कि इससे पहले इजरायल और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के बीच 13 अगस्त को एक ऐतिहासिक शांति समझौते को लेकर सहमति बनी थी। व्हाइट हाउस में 15 सितंबर को आयोजित एक कार्यक्रम में इजरायल और यूएई के बीच इस शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए जायेंगे। इस कार्यक्रम के लिए श्री ट्रम्प ने बहरीन को आमंत्रित किया है जिसे स्वीकार कर लिया गया है। अब 15 सितंबर को व्हाइट हाउस में इजरायल और बहरीन के बीच भी शांति समझौते पर हस्ताक्षर होंगे। उल्लेखनीय है कि 1948 में इजरायल की स्वतंत्रता की घोषणा के बाद से यह चौथा इजरायल-अरब शांति समझौता है। इससे पूर्व इजरायल ने 1979 में मिस्र और 1994 में जाॅर्डन के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किए थे जबकि पिछले महीने अगस्त में ही यूएई के साथ शांति समझौता हुआ था।