ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
हाथरस चर्चित कांड में सच और झूठ का पता लगाने को सीबीआई कराना चाहती है पाॅलीग्राफ,परिवार का इनकार
November 7, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

हाथरस चर्चित कांड में सच और झूठ का पता लगाने को सीबीआई कराना चाहती है पाॅलीग्राफ,परिवार का इनकार

(न्यूज़)।हाथरस के चर्चित कांड में कथित गैंगरेप और युवती की मौत के मामले में जांच कर रही सीबीआई की टीम शुक्रवार को तीसरी बार घटनास्थल पर पहुंची। यहां पीड़िता की मां और भाई को बुलाकर क्राइम सीन रीक्रिएट किया। करीब दो घंटे तक प्रक्रिया जारी रही। फॉरेसिंक टीम ने हर एंगल से घटना के प्रारूप को कैमरे में कैद किया। मां और भाई दोनों से घटनास्थल पर ही सवाल किये गये। पीड़िता के बड़े भाई ने सच-झूठ का पता लगाने के टेस्ट कराने से इंकार किया है, हालाकि ऑडियो टेस्ट के लिए परिवार तैयार है। हाथरस कांड की पीड़िता के बड़े भाई से सीबीआई कई बार पूछताछ कर चुकी है। पीड़िता के पिता के नाम से खरीदी गई सिम के नंबर से मुख्य आरोपी संदीप के फोन नंबर पर हुई बातचीत की कॉल डिटेल रिकॉर्ड(सीडीआर) को भी भाई ने एक बार फिर गलत बताया है।
सीबीआई के सवालों के बारे में भाई ने बताया कि सीबीआई ने उनसे सच झूठ का पता लगाने (पॉलीग्राफ टेस्ट ) के लिए टेस्ट कराने को कहा। इस पर उसने यह कहते हुए इस टेस्ट को कराने से इंकार कर दिया कि उन्हें क्या पता इस टेस्ट में क्या है। ऑडियो टेस्ट की बात कहने पर उन्होंने (भाई) हां कर दी। पीड़िता के भाई का कहना है कि जेल में बंद लोगों से पूछताछ की जाए। उन्हें तो आराम से जेल में बिठा रखा है। उनसे पूछा जाए कि कैसे मारा।