ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
गुलाबी गैंग लोकतान्त्रिक ने भ्रष्टाचार के विरोध में ब्लाक बहुआ  का किया घेराव
September 28, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

गुलाबी गैंग लोकतान्त्रिक ने भ्रष्टाचार के विरोध में ब्लाक बहुआ  का किया घेराव 

फतेहपुर। ग्राम विकास अधिकारी के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी पात्रों को लाभ ना दिलाये जाने व भ्रष्टाचार में संलिप्तता के साक्ष्यों  के साथ  गुलाबी गैंग लोकतान्त्रिक  ने  छेड़ी मुहीम  गुलाबी गैंग  लोकतान्त्रिक अध्यक्ष हेमलता पटेल के नेतृत्व में सैकड़ो महिलाएं गरीब पात्रों के साथ  ब्लाक बहुआ  पहुंची ।भ्रष्टाचार के खिलाफ  जमकर नारेबाजी करते हुए पात्रों को लाभ दिलाये जाने की मांग की । इस दौरान खण्ड विकास अधिकार के माध्यम से जिलाधिकारी को सम्बोधित चार सूत्रीय  ज्ञापन सौंपा गया व समस्याओं  के अतिशीघ्र निवारण किये जाने की मांग की गई । संगठन की सभी  प्रमुख  मांगे इस प्रकार से रहीं  प्रथम मांग ग्राम पंचायत सुजानपुर  के गरीब पात्र ब्यक्ति जो वृद्धा पेंशन हेतु पात्र थे उनके आवेदन ग्राम विकास अधिकारी मनमोहन सिंह ने अपात्र घोषित करते हुए निरस्त कर दिए एवं निरस्त करने का कारण यह बताया की आवेदको के पास  आय प्रणामपत्र की उपलब्धता नहीं  है, जबकि ऐसा नहीं  था सभी  आवेदको ने आय प्रमाण पत्र उपलब्ध कराये थे जिसके साक्ष्य के रूप में अध्यक्ष हेमलता पटेल ने आवेदकों के आवेदन फार्म की प्रतिलिपि  प्रस्तुत की जिससे  यह स्पष्ट हो गया की आवेदको ने आय प्रमाण पत्र उपलब्ध कराये थे ।आवेदको ने बताया की ग्राम विकास अधिकारी मनमोहन सिंह ने उनसे एक एक हज़ार  रूपए की मांग की थी  और  वो पैसे देने में असमर्थ रहे जिसका परिणाम ये रहा की पात्र होने के बावजूद भी उनके आवेदन निरस्त कर दिए गए इस पर संगठन  की यह मांग रही की ग्राम विकास अधिकारी मनमोहन सिंह की जाँच करवाते हुए ठोस कार्यवाही की जाये।
द्वितीय मांग - ग्राम सुजानपुर में पार्वती पत्नी स्व. मोतीलाल,  जरीना पत्नी इरसाद, सोमवती पत्नी मनोज आदि ऐसे ही सैकड़ो पात्रों को शौचालय का लाभ नहीं दिया गया जबकि समर सिंह पुत्र रामकिशोर को शौचालय हेतु 12000 रूपए की चेक संख्या 372126 एवं 907666 द्वारा धनराशि दी गयी जबकि इकलौता पुत्र का शौचालय बना हुआ है ।अतः जाँच करते हुए घोटालेबाज़ो पर ठोस कार्यवाही की जाये व पत्रों को शौचालय, आवास मुहैया कराये जाये ।
तृतीय मांग -  प्रीती  के घर के पास  हैण्डपम्प की नाली व ज्वालामैय्या स्थान  के पास नाली, खरंजा नहीं बनाया जा रहा है सरकारी धन का दुरूपयोग किया गया है। कार्यरत ग्राम विकास अधिकारी मनमोहन सिंह के कार्यालय द्वारा कराये गए कार्यो की  वित्तीय अनियमितता की जाँच करायी जाये ।चतुर्थ मांग - कुष्ठ रोगी बाबू पुत्र महमद अली के छः सदस्यीय परिवार को शौचालय व आवास का लाभ अभी तक नहीं दिया गया है ।अतिशीघ्र लाभ दिलाया जाये |अध्यक्ष हेमलता पटेल ने कहा की " हम व हमारा संगठन भ्रष्टाचार के विरुद्ध पात्रों को लाभ दिलाने जाने हेतु आर - पार की लड़ाई लड़े जाने के लिए  तत्पर है ।सी.डी. ओ  के आदेशानुसार बी. डी. ओ महोदय ने ग्राम विकास अधिकारी मनमोहन सिंह के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी कर दी है | अब हम संतुष्ट हैं  हमें आशा है ठोस कार्यवाही की जाएगी अन्यथा की स्थिति में बृहद आंदोलन कलेक्ट्रेट परिसर में करने हेतु हम बाध्य होंगे | इस दौरान सरला सिंह, राजरानी, प्रीती, रानी, सीमा, रानी, शहरुन, आमना, अर्चना, पूजा, कौशिल्या, विमला, सुधा आदि महिलायें मौजूद रहीं |