ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
ग्राम प्रधान की जांच में एसडीओ से ग्रामीणों ने जमकर की शिकायतें
September 2, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

अमौली( फतेहपुर)। जनपद के अमौली विकासखंड के अंतर्गत ग्राम पंचायत आजमपुर गढ़वा के ग्राम प्रधान रामबाबू दिवाकर की जांच लगभग कई वर्षों से चल रही है| ग्राम प्रधान के ऊपर ग्राम पंचायत की कच्ची पुराई नरेगा एवं गांव के अन्य विकास कार्यों के लाखों रुपए के गमन का आरोप है| पिछले कुछ दिनों पहले इसकी जांच खंड विकास अधिकारी अमौली पारुल कटियार के द्वारा होनी थी| परंतु अधिकारी अपनी टीम के साथ जैसे ही वहां पहुंची इतने में ही प्रधान पक्ष और शिकायतकर्ता पक्ष के लोगों ने आपस में विवाद करना प्रारंभ कर दिया जिसके कारण बिना जांच किए टीम वापस आ गई थी| अधिकारियों ने बताया कि इससे पहले भी एक बार एंटी करप्शन टीम जांच के लिए गांव आजमपुर गढ़वा गई थी जहां पर टीम के साथ ग्राम प्रधान ने अभद्रता की| साक्ष्य के रूप में टीम के द्वारा बनाए गए वीडियो को डिलीट करने के लिए ग्राम प्रधान ने कहा |अधिकारियों के ऐसा न करने पर उनका घेराबंदी गांव की कुछ लोगों को लगा कर ग्राम प्रधान ने करा दिया था| बाद में थाना चांदपुर प्रशासन ने पहुंचकर मामले का निस्तारण किया और बिना जांच के ही टीम वापस चली गई| मंगलवार को पुनः ग्राम पंचायत में डीएसओ अंजनी कुमार लेबर कमिश्नर श्रम विभाग आशीष कुमार एवं सचिव विजय सोनकर की टीम पंचायत स्तर पर पहुंची और जांच का कार्य प्रारंभ किया| जांच में अनेक प्रकार की अनियमितताएं पाई गई साथ ही ग्रामीण वीरेंद्र कुमार पुत्र श्रीपाल एवं राजबहादुर  पुत्र छक्कू ने बताया कि उसने नरेगा में कार्य किया है और उसे अभी तक मजदूरी प्राप्त नहीं हुई जबकि कार्य किए महीनों गुजर गए| यहां तक कि ग्राम प्रधान ने बताया कि उसने पंचायत के मजरे हुसैनाबाद से आजमपुर गढ़वा तक की रास्ता की कच्ची पुराई कराई है परंतु ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान की यह पोल भी खोल दी| बुजुर्ग ग्रामीण वीरेंद्र कुमार ने बताया कि मजरे हुसैनाबाद से आजमपुर गढ़वा की कच्ची पुराई पूर्व प्रधान भुवन भास्कर द्विवेदी ने कराई थी इसके बाद इस रास्ते पर कोई भी कार्य अभी तक नहीं हुआ जबकि कच्ची  पुराई का पैसा भी वर्तमान प्रधान रामबाबू दिवाकर ने खाते से निकाल लिया है| ग्रामीणों ने गांव के कई लोगों का नाम बताया  कि रजोल गुप्ता  गुलाब दनकी दिवाकर अच्छेलाल बदलू  जैसे ग्रामीण जिन्होंने आज तक नरेगा के नाम पर फावड़ा उठाया ही नहीं और उनके खाते पर ग्राम प्रधान ने जमकर धन ट्रांसफर किया| अधिकारियों ने सभी ग्रामीणों की बारी बारी से बात सुनी और  जल्द ही इस मामले के निस्तारण का आश्वासन दिया| इस मौके पर स्वयं प्रधान रामबाबू दिवाकर एवं शिकायतकर्ता राजकिशोर दिवाकर के साथ  आर एस एस के रामखेलावन समाजसेवी मनीष चौधरी वीरेंद्र राजबहादुर रमेश चंद्र सहित सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित रहे|