ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
गौशाला के.लिए आरक्षित जमीन में अवैध खनन की प्रधान ने की शिकायत
August 31, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

उपजिलाधिकारी व क्षेत्राधिकारी के निर्देश के बाद पुलिस ने लगाई रोक

 बिदकी फतेहपुर 
थाना बकेवर क्षेत्र के  ग्राम सरांय बकेवर प्रधान ने ग्राम सभा द्वारा गौशाला के लिए आरक्षित जमीन में खनन कराए जाने की शिकायत पुलिस क्षेत्राधिकारी से की है ।
ग्राम प्रधान अमर नाथ गुप्त का कहना है कि यह खनन कार्य पिछले दिनों से चल रहा है। जिसकी शिकायत उन्होंने बकेवर पुलिस ने किया था किंतु उस पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। जिससे खनन कराने वाले लगातार जेसीबी से खनन करा रहे हैं। शिकायती पत्र देते समय ग्राम सभा सरांय बकेवर की ग्राम विकास अधिकारी भी मौके पर मौजूद थीं ।
पुलिस को दिए गए शिकायती पत्र में आरोप लगाया गया है कि संतोष सिंह महाविद्यालय जो कि थाने से लगभग 500 मीटर पर स्थित है। उसी के समीप गौशाला के लिए आरक्षित जमीन पर जेसीबी द्वारा अवैध मिट्टी का खनन कराया जा रहा है। यह मिट्टी थाने से लगभग 100 मीटर दूर पर डाली जा रही है। ऐसे में यह सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि खनन कराने वालों के संबंध में पुलिस को पहले से ही जानकारी है ।
ग्राम प्रधान व ग्राम विकास अधिकारी रक्षा पांडे ने बताया है कि जेसीबी चलने की वजह से लोगों ने सोचा कि ग्राम सभा में मनरेगा के तहत जेसीबी से तालाब की खुदाई कराई जा रही है।उन्होंने दिए गए शिकायती पत्र से मांग की है कि जब तक राजस्व टीम द्वारा उस जमीन की पैमाइश कर के सीमांकन ना किया जाए तब तक के लिए अवैध खनन रोक दिया जाए।
 सवाल यह उठता है कि बिना परमिशन के यह अवैध खनन किस तरह किया जा रहा है, जो कि कहीं से भी संवैधानिक नहीं है।
 जानकारी के अनुसार इस मामले की शिकायत जब उपजिलाधिकारी से की गई तो उन्होंने गंभीरता के साथ इस मामले को लेते हुए राजस्व टीम भेजने की बात कही तब कहीं जाकर पुलिस ने काम रुकवाया। ग्राम प्रधान अमरनाथ गुप्ता ने बताया अवैध खनन में लगी जेसीबी मशीन सहित पांच ट्रैक्टरों को पुलिस ने पकड़ कर थाने लाना भी उचित नहीं समझा।