ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
फ़तेहपुर में नही सुरक्षित है बेटियां, फिर इक 6 साल की मासूम से रेप
November 19, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

फ़तेहपुर में नही सुरक्षित है बेटियां, फिर इक 6 साल की मासूम से रेप

फतेहपुर,19नवम्बर
उत्तर प्रदेश के फ़तेहपुर जिले में 6 साल की मासूम बच्ची से रेप का एक बड़ा मामला सामने आया है। आरोप है कि खेतों की तरफ बकरी चराने गई बच्ची के साथ पड़ोस के रहने वाले लड़के ने रेप किया है। मासूम से दरिंदगी की वारदात के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। जिसके बाद पुलिस ने परिजनों की शिकायत पर आरोपी लड़के के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। मामला बुधवार की रात बिंदकी कोतवाली इलाके की है। घटना के बाबत एएसपी राजेश कुमार ने बताया कि रेप का आरोपी लड़का भी नाबालिग है। घटना के बाद से पुलिस की टीमें उसकी सरगर्मी से तलाश कर रही थी। आज सुबह पुलिस ने आरोपी को पकड़ लिया है। मासूम पीड़िता का मेडिकल परीक्षण कराया जा रहा है।
बिंदकी कोतवाली इलाके में बुधवार की रात 6 साल की मासूम बच्ची से रेप की वारदात से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। परिजनों ने पड़ोसी लड़के पर बच्ची से रेप करने का आरोप लगाया है। पीड़िता के परिजनों के मुताबिक बुधवार की शाम उनकी 6 साल की मासूम बेटी गांव के बाहर बाग में बकरी चराने गई थी। देर शाम जब लहुलुहान बच्ची बदहवास हालत में घर पहुंची तो उसे देखकर परिजनों के होश उड़ गए।
घटना की सूचना परिजनों ने यूपी डायल 112 और बिंदकी कोतवाली पुलिस को दी। सूचना के बाद पुलिस मौका-ए वारदात पर पहुंची, और पीड़ित बच्ची को उपचार के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया। जिसके बाद डॉक्टरों ने बच्ची का इलाज शुरू किया तो कुछ देर बाद उसकी हालत में सुधार आया। जब घटना के बारे में परिजनों ने मासूम से पूछा तो सुनकर उनके होश उड़ गए। 
परिजनों के मुताबिक पीड़ित मासूम ने उन्हें बताया कि जब वह बकरी चरा रही थी, तभी पड़ोस का रहने वाला लड़का सूरज उर्फ छोटू उसे बहलाकर फुसलाकर खेत में लगे पुआल की ढेर में ले गया, और उसके सारे कपड़े उतारकर उसके साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया। घटना के बाद जब मासूम की हालत खराब हुई तो उसे मौके पर छोड़कर फरार हो गया। जिसके बाद वह बदहवास हालत में घर पहुंची, और उसके प्राइवेट पार्ट से ब्लीडिंग हो रही थी।  
मासूम से रेप की वारदात के बाद रात 01 बजे तक पुलिस अधिकारी मीडिया से दूरी बनाए रखे। एसएचओ, सीओ और एसपी का फोन तक नही रिसीव हो रहा था। जिसके बाद मीडिया ने मामले की जानकारी प्रेम प्रकाश एडीजी जोन प्रयागराज से चाही। जिस पर एडीजी ने घटना के बारे में एसएचओ से बात कर मीडिया को विस्तृत जानकारी दी। इस दौरान रात करीब डेढ़ बजे एसपी ने भी कॉल बैक किया और मोबाइल फोन पर ही घटना की जानकारी मीडिया से साझा किया। घटना के 10 घंटे बाद गुरुवार की सुबह साढ़े 6 बजे के बाद इस मामले में एएसपी और एसपी ने तीन अलग-अलग अपना आधिकारिक तौर पर बयान जारी किया।
एएसपी राजेश कुमार ने गुरुवार की सुबह 06 : 35 बजे दिए गए अपने पहले आधिकारिक बयान में बताया कि नाबालिग से रेप का मामला सामने आया है। पीड़िता के परिजनों की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 A,B, 504, 506 व 5/6 पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया गया। आरोपी लड़का सूरज उर्फ छोटू भी नाबालिग है। पुलिस की टीमें आरोपी की सरगर्मी से तलाश कर रही है। पीड़ित बच्ची की हालत अब ठीक है। मेडिकल परीक्षण की कार्यवाई कराई जा रही है। 
मासूम से रेप के मामले में घटना को 10 घंटे बीत जाने के बाद मीडिया को पुलिस अफसरों ने एक दो नही बल्कि तीन अलग-अलग आधिकारिक तौर पर अपना बयान जारी किया है। गुरुवार की सुबह 07 : 51 बजे घटना के बाबत एसपी प्रशांत वर्मा ने भी अपना बयान जारी किया और बताया कि रेप के मामले में पुलिस ने नाबालिग आरोपी को पकड़ लिया है। पीड़िता का मेडिकल परीक्षण के बाद आगे की कार्यवाई की जा रही है। बतादे की ये कोई पहला मामला नही है, जब पुलिस के जिम्मेदार अधिकारियों ने मीडिया को घटना के 10 घंटे देरी से अपना आधिकारिक तौर पर बयान जारी किया हो, बल्कि उनके आदत में शुमार है।