ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
एमएनएस चीफ़ राज ठाकरे Sushant Singh Rajput के मामले में बोले- पार्टी का कोई लेना-देना नहीं विवाद से
July 6, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • राजनीति

नई दिल्ली। सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद से सबसे ज़्यादा बहस बॉलीवुड के अंदर मौजूद नेपोटिज़्म की हो रही है। सोशल मीडिया  से लेकर इंडस्ट्री तक इनसाइडर बनाम आउटसाइडर के मुद्दे पर बात हो रही है। इस बीच ख़बर आई थी कि राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ऐसे स्ट्रग्ल करने वाले लोगों की मदद करेगी, जो नेपोटिज़्म के शिकार हैं। हालांकि, अब राज ठाकरे ने इस मुद्दे पर सफाई दी है। उन्होंने बताया है कि उनकी पार्टी का सुशांत सिंह राजपूत के मामले के बाद उपजे विवाद से कोई भी लेना-देना नहीं है। 

राज ठाकरे ने अपने बयान में कहा है- 'सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद से हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री में अस्थिरता और बड़े पैमाने पर विवाद बढ़ रहे हैं। कुछ वर्ग के लोग ने अनजाने से इस मुद्दे में महाराष्ट्र नवनिमार्ण सेना का नाम जोड़ दिया। बताया जा रहा है कि अगर किसी आर्टिस्ट को परेशान किया जा रहा है या वह अन्याय शिकार हो रहा है, तो वह महाराष्ट्र नवनिमार्ण सेना से संपर्क कर सकता है। यह काफी तेजी के साथ प्रसारित हो रहा है। मैं इस बात को पूरी तरह से साफ़ कर देना चाहता हूं कि ना तो मेरी पार्टी और ना ही इसका कोई भी विंग, इस तरह के किसी विवाद/समाचार से जुड़ा है।'

आपको बता दें कि इससे पहले विभिन्न रिपोर्ट्स में MNS के महाराष्ट्र वाइस प्रेसिडेंट वागीश सारस्वत के हवाले से बताया गया था कि अगर बॉलीवुड में किसी को प्रताड़ित किया जा रहा है, तो उसे एमएनएस से संपर्क करना चाहिए। राज ठाकरे के पार्टी नेपोटिज़्म वालों को कड़ा सबक सिखाएगी।

आपको बता दें कि सुशांत के निधन के बाद नेपोटिज़्म का मामला राजनीतिक हो गया है। कई नेता ऐसे हैं, जो लगातार इस मामले में सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं। इमसें पप्पू यादव से लेकर मनोज तिवारी तक शामिल हैं। वहीं, सोशल मीडिया पर भी लगातार नेपोटिज़्म को लेकर स्टार किड्स को ट्रोल किया जा रहा है।