ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
दुष्कर्म के आरोप में फंसे बालक को किशोर न्याय बोर्ड ने दी अंतरिम जमानत
October 22, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

दुष्कर्म के आरोप में फंसे बालक को किशोर न्याय बोर्ड ने दी अंतरिम जमानत

आगे की कार्रवाई आयु सत्यापन के बाद

(न्यूज़)।महानगर के क्वार्सी इलाके में दुष्कर्म के आरोप में फंसे बालक को किशोर न्याय बोर्ड ने अंतरिम जमानत देते हुए परिवार के सुपुर्द कर दिया है।साथ में प्रत्येक तारीख पर बालक को बोर्ड के समक्ष हाजिर होने के निर्देश भी दिए गए हैं।वहीं उसकी उम्र का सत्यापन कराने संबंधी औपचारिकताएं भी शुरू हो गई हैं।अपने आदेश में बोर्ड ने माना है कि देखने से बालक की उम्र सात वर्ष लग रही है।मगर उम्र का सत्यापन होने के बाद ही आगे कार्रवाई होगी।इसे लेकर सीएमओ को बालक की उम्र का सत्यापन कराने संबंधी निर्देश दिए गए हैं।17 अक्तूबर की देर रात क्वार्सी थाने पहुंची बच्ची की मां ने यह आरोप लगाया था कि 12 अक्तूबर की दोपहर पड़ोसी बच्चे ने उसकी बेटी संग दुष्कर्म किया है।मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया था।वहीं, बुधवार को आरोपी बालक को उसकी मां के साथ बोर्ड के समक्ष पेश कराया गया।इस दौरान पीड़ित बच्ची भी बोर्ड के समक्ष पेश की गई।प्रकरण में बालक की मां ने अपने अधिवक्ता हरिओम वार्ष्णेय की ओर से बालक की उम्र का सत्यापन कराने संबंधी और जमानत का अनुरोध भी किया गया।इस पर बोर्ड ने बालक को मुकदमे में 20 हजार रुपये की धनराशि के निजी बंध पत्र व दो जमानतनामे व अंडरटेकिंग दाखिल करने पर अंतरिम जमानत दे दी और 4 नवंबर अगली तारीख नियत की है।अधिवक्ता हरिओम वार्ष्णेय ने बताया कि बालक को फिलहाल परिवार के सुपुर्द कर दिया गया है।अग्रिम सुनवाई तारीख 4 नवंबर नियत की गई है।वहीं अब सीएमओ उम्र सत्यापन के लिए डॉक्टरों का पैनल गठित करेंगे।इसके बाद उम्र का सत्यापन होगा।