ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
ड्रग केस में NCB की बड़ी कार्रवाई, मुंबई-गोवा में 7 ठिकानों पर छापेमारी
September 12, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

नई दिल्ली। सुशांत केस में ड्रग एंगल की जांच कर रही नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) पूरे एक्शन में है। ड्रग पैडलर्स के ठिकानों पर लगातार छापेमारी हो रही है। इसी के तहत एनसीबी ने मुंबई और गोवा में एक अंतरराष्ट्रीय ड्रग रैकेट का भंडाफोड़ किया है। इस दौरान भारी तादात में ड्रग्स के सात 7 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है। एनसीबी ने लगभग 4.5 किलोग्राम हेरोइन, 445 ग्राम कोकीन और 1.1 किलोग्राम मारिजुआना जब्त किया है, जिसे छह पार्सल के माध्यम से भारत भेजा गया था। उधर, रिया ने एनसीबी के सामने लगभग 15 बॉलीवुड हस्तियों लिया है, जो ड्रग्स का इस्तेमाल करते हैं। ये सभी लोग अब एनसीबी के निशाने पर हैं।

शुक्रवार को विशेष अदालत ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जु़ड़े ड्रग्स प्रकरण में गिरफ्तार अभिनेत्री रिया चक्रवती, उसके भाई शौविक तथा चार अन्य आरोपितों की जमानत अर्जियां खारिज कर दीं। इन सभी को एनडीपीएस एक्ट में नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने गिरफ्तार किया है। फिलहाल ये सभी आरोपित न्यायिक हिरासत में हैं। एनसीबी के अनुसार रिया अपने भाई शौविक एवं सुशांत के पूर्व हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा तथा उसके पूर्व स्टाफ दीपेश सावंत के साथ ड्रग्स सिंडीकेट का हिस्सा थी।

वहीं, रिया ने अपनी जमानत अर्जी में दावा किया है कि उसे इस मामले में झूठा फंसाया गया है। वह एनसीबी द्वारा तीन दिनों तक पूछताछ के दौरान दर्ज किए कुबूलनामा से भी मुकर गई है। उसने दावा किया है कि एनसीबी अधिकारियों ने उसे खुद के दोषी होने संबंधी बयान देने के लिए मजबूर किया था। दूसरी ओर, एनसीबी ने जमानत अर्जियों का विरोध करते हुए दलील दी थी कि रिया इस बात से वाकिफ होते हुए भी कि राजपूत ड्रग्स लेते थे, वह ड्रग खरीदती रही।

एनसीबी का यह भी कहना था कि भले की बरामद ड्रग्स की मात्रा कम थी, लेकिन यह 1,85,200 रपये मूल्य की व्यावसायिक मात्रा थी। एनसीबी ने जमानत अर्जियों पर जवाबी हलफनामे में कहा कि रिया और शौविक चक्रवर्ती ने सुशांत राजपूत के लिए उनके कहने पर ड्रग्स के इंतजाम किए और उसके पैसे चुकाए।