ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
डूबने से हुई थी मजदूर की मौत, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
September 1, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश


  
उन्नाव। दो दिन से लापता मजदूर का शव मिलने की घटना में परिजनों ने पड़ोसी गांव के दो लोगों पर रंजिशन हत्या के बाद शव नहर में फेंकने का आरोप लगाया है। वहीं, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में डूबने से मौत की पुष्टि हुई है। कोतवाल ने बताया कि हिरासत में लिए गए युवक ने साथ में शराब पीने के बाद उसे नहर में नहाने को मजबूर किया था। मजदूर के डूब जाने पर परिजनों को सूचना दिए बिना भाग गए।
सदर कोतवाली के डीह ग्राम सभा निवासी 32 वर्षीय मजदूर कमलेश पुत्र कुंवारे का शव रविवार को ललऊखेड़ा स्थित नहर में मिला था। मृतक की पत्नी राधा का आरोप है कि पड़ोसी गांव का युवक उसे अपने साथ ले गया था। उसने अपने एक साथी के साथ मिलकर पति की रंजिशन हत्या कर शव को नहर में फेंक दिया। कोतवाल दिनेश चंद्र मिश्र ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में डूबने से मौत की पुष्टि हुई है। शरीर में किसी तरह की कोई चोट नहीं मिली है। परिजनों के शक के आधार पर आरोपित युवक को पकड़कर पूछताछ की गई है। उसने बताया कि कमलेश के साथ वह ट्रकों से मौरंग उतारने का काम करता है। 28 अगस्त को मौरंग उतारने के बाद ललऊखेड़ा स्थित नहर के किनारे बैठकर उसने कमलेश व एक अन्य मित्र के साथ पहले शराब पी फिर नहर में नहाने उतरे। इस दौरान कमलेश डूब गया। डरवश उन्होंने किसी को जानकारी नहीं दी।
कोतवाल दिनेश चंद्र मिश्र के अनुसार पकड़े गए मृतक के दोस्त ने बताया कि 28 अगस्त को ललऊखेड़ा नहर के पास शराब पीने के बाद उसने एक सांस में कमलेश से नहर पार करने की बात कही। कमलेश ने 100 रुपये की शर्त लगाई। कमलेश नहर में उतरा और पानी में अंदर जाने के बाद काफी देर तक ऊपर नहीं आया। उसके डूबने के शक पर पुलिस से बचने के लिए वह अपने दूसरे साथी के साथ वहां से भाग आया। कोतवाल ने बताया कि परिजनों की ओर से तहरीर मिलने पर मजदूर के डूबने की सूचना छिपाने और उसे आत्महत्या के लिए प्रेरित करने की रिपोर्ट दर्ज कर दोनों आरोपियों को जेल भेजा जाएगा।


बाग में फंदे से लटका मिला महिला का शव
   
आसीवन(उन्नाव)। थाना क्षेत्र के ऐनी बुजुर्ग गांव में महिला का शव उसके घर से कुछ दूरी पर बाग में लटका मिला। मोहल्ले के लोगों में परिवार में विवाद होने की चर्चा है। जबकि मृतका के भाई ने हत्या कर शव को फंदे से लटकाने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है। पुलिस ने तफ्तीश और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की बात कही है। आसीवन थानाक्षेत्र के ऐनी बुजुर्ग गांव निवासी रज्जनलाल की 30 वर्षीय पत्नी रीता देवी रविवार को तीन बजे लकड़ियां बीनने बाग गईं थी। कुछ देर बाद उसकी सास रामश्री भी वहां पहुंच गई। मोहल्ले के लोगों के अनुसार घरेलू खुन्नस को लेकर दोनों में विवाद हो गया। जिसके बाद सास व पीछे से बहू भी घर आ गई। शाम 7 बजे रीतादेवी का शव उसी के बगीचे में पेड़ की डाल से साड़ी के सहारे लटका मिला। शौच गए ग्रामीणों ने शव लटका देख परिजनों के अलावा पुलिस को घटना की जानकारी दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं सूचना पर पहुंचे इसी थाना क्षेत्र के मीरपुर मरोचा गांव निवासी मृतका के भाई ज्ञानेंद्र पुत्र रघुराज ने ससुरालीजनों पर हत्या कर शव लटकाने का आरोप लगाया। भाई के आरोप पर पुलिस ने मृतका के पति को हिरासत में लेकर शव पोस्टमार्टम को भेजा है। एसओ राजेश सिंह ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। मृतका के भाई ने बताया कि उसकी बहन रीता देवी की शादी 11 वर्ष पूर्व रज्जनलाल से हुई थी। एक साल का बेटा हर्ष है। मां की मौत के बाद उसके सिर से ममता का साया उठ गया।

एंबुलेंस की दिक्कत आए तो सीएमओ से करें शिकायत

बिछिया(उन्नाव)। स्वास्थ्य केंद्र में संचालित कोविड एलवन अस्पताल का डीएम ने निरीक्षण किया। भोजन की गुणवत्ता सही न मिलने पर प्रभारी से जवाब-तलब किया। सीएमओ को निर्देश दिए कि गुणवत्ता में सुधार किया जाए। शिकायत का मौका नहीं मिलना चाहिए। मरीजों से कहा कि एंबुलेंस चैबीस घंटे उपलब्ध हैं। एंबुलेंस मिलने में दिक्कत आए तो सीएमओ को जानकारी दें। डीएम रवींद्र कुमार सुबह बिछिया स्वास्थ्य केंद्र में बने कोविड अस्पताल पहुंचे। यहां कोविड हेल्प डेस्क के साथ थर्मल स्कैनर, पल्स ऑक्सीमीटर सब सही मिला। डॉक्टर अस्पताल कर्मी सभी उपस्थित मिले। सीएचसी प्रभारी आरपी सचान को कमरों व शौचालयों की सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। कहा कि कमरों को समय-समय पर सैनिटाइज कराया जाए। मरीजों की सुविधा के लिए पेयजल, बिजली की व्यवस्थाएं दुरुस्त रखी जाएं। गैस सिलिंडर पर्याप्त मात्रा में हों। पीपीई किट, चादर, मास्क, ग्लब्स व चश्मे पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हों। मरीजों की चादरों को नियमानुसार समय से बदला जाए। मरीजों से कहा कि दिक्कत होने पर वह किसी भी समय फोन पर संपर्क कर सकते हैं। खाने की गुणवत्ता पर डीएम ने सीएमओ से कहा कि इसमें लापरवाही न हो। निर्देश दिए कि कोविड अस्पतालों में कार्यरत डॉक्टर, नर्स, वार्ड ब्वाय, सफाई कर्मियों को प्राथमिकता पर आइवरमेक्टिन दवा का वितरण कराएं। इस दौरान सीएमओ कैप्टन डॉ. आशुतोष कुमार, सीएमएस डॉ. बीबी भट्ट व अन्य स्वास्थ्य अधिकारी उपस्थित रहे।