ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
दिन पूर्व ओझापुर गांव के समीप काटे गए दो शीसम के पेड़ों व बड़ागांव में चोरी छिपे काटे गए 18 सागौन के पेड़ों का मामला
October 14, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

दिन पूर्व ओझापुर गांव के समीप काटे गए दो शीसम के पेड़ों व बड़ागांव में चोरी छिपे काटे गए 18 सागौन के पेड़ों का मामला

वनमाफिया विगत दिनों दोनों स्थानों से चोरी छिपे काट ले गए थे प्रतिबंधित पेड़

वन विभाग के बीट प्रभारी की तहरीर पर दर्ज हुआ वन अधिनियम का मुकदमा

हुसैनगंज (फतेहपुर)।
थाना क्षेत्र के असनी चौकी अन्तर्गत विगत एक सप्ताह पूर्व लकड़ी ठेकेदार ने ओझाँपुर गांव के समीप से चोरी छिपे दो शीशम के पेड़ों को काट लें गया था,जिसकी सूचना ग्रामीणों ने वनविभाग को दी थी,मौके पर असनी चौकी पुलिस व वन विभाग की टीम पहुंची थीं,टीम द्वारा कई दिनों तक खोजबीन करने के बाद लकड़ी चोरों का पता चला,इधर वनविभाग की टीम वनमाफियाओ का पता लगा ही रही थी,की फिर  वनमाफिया ने असनी चौकी क्षेत्र के गांव बड़ागांव में विगत पांच दिन पूर्व फिर चोरी छिपे 18 सागौन के पेड़ों को काट ले गया,जब इसकी सूचना वनविभाग को लगी तो टीम मौके पर पहुंची, और लोगों से पेड़ों के काटे जाने के बारे में जानकारी हासिल की,टीम को पता कि ओझापुर गांव में चोरी से शीशम काट कर ले जाने वाला ठेकेदार ने ही यहां गांव में 18 सागौन के पेड़ों को काटा है।दोनों स्थानों से अवैध रूप से प्रतिबंधित शीशम व सागौन काटे जाने के बाद वनविभाग की टीम ने लकड़ी ठेकेदार से जुर्माने को धनराशि जमा करने के लिए कहा तो वह धनराशि जमा करने से मना कर दिया।तो वनविभाग भिटौरा रेंज के बीट प्रभारी श्रीराम परिहार ने  वनमाफीया के विरूद्ध थाने में तहरीर दी है। जिस पर पुलिस ने कार्यवाही करते हुए लकड़ी ठेकेदार,एक सहयोगी व दोनों स्थानों के पेड़ मालिकों के विरूद्ध वन अधिनियम का मुकदमा दर्ज किया है।