ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
दिल्ली में ज्यादा कॉलेज-विश्वविद्यालय खोलने और अंग्रेजों के कानून को बदलने की है जरूरतः केजरीवाल
October 16, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

दिल्ली में ज्यादा कॉलेज-विश्वविद्यालय खोलने और अंग्रेजों के कानून को बदलने की है जरूरतः केजरीवाल

(न्यूज़)।दिल्ली के कई कॉलेजों में दाखिले के लिए 100 प्रतिशत की जो कट ऑफ लिस्ट जारी हुई है उसे लेकर चिंतित दिल्ली के मुख्यमंत्री ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि दिल्ली के कई कॉलेज में कट ऑफ 100 प्रतिशत है, ऐसे में बच्चे दाखिले के लिए बेहद चिंता में हैं और उनके ऊपर भारी दबाव है।
केजरीवाल ने कहा कि बच्चों के ऊपर साल दर साल बढ़ता दबाव देखकर यह महसूस होता है कि दिल्ली में और अधिक कॉलेज तथा विश्वविद्यालय खोलने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि इसके लिए दिल्ली विश्वविद्यालय के उस कानून में भी बदलाव की जरूरत होगी जो अंग्रेजों के दौर में बनाया गया था।
अंग्रेजों के बनाए कानून के अनुसार दिल्ली में कोई भी कॉलेज अगर खुलेगा तो उसे दिल्ली विश्वविद्यालय से मान्यता मिलना जरूरी होगा। दिल्ली में बीते कई दशक से कोई कॉलेज नहीं खुला है क्योंकि दिल्ली विश्वविद्यालय के पास इतने संसाधन नहीं हैं कि वह और कॉलेज को एफिलिएट कर सके। केजरीवाल ने आगे कहा कि ऐसे में जरूरत है कि अंग्रेजों के उस कानून में बदलाव किया जाए और नए कॉलेजों को आईपी यूनिवर्सिटी से संबद्ध करने की अनुमति मिले जिससे ज्यादा कॉलेज खुल सकें। जब ज्यादा कॉलेज खुलेंगे तो बच्चों के ऊपर कट ऑफ का प्रेशर नहीं होगा। हम नए कॉलेज खोलने को तैयार हैं, फंड करने को भी तैयार हैं। केजरीवाल ने कहा कि वह केंद्रीय शिक्षा मंत्री से अनुरोध करेंगे कि दिल्ली में और कॉलेज खोलने की अनुमति मिले।