ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
दिल्‍ली में एक साथ 5 वायरस ऐक्टिव, हर एक की डीटेल, जानिए असर और बचाव के तरीके नई दिल्ली। देश की राजधानी एक साथ पांच-पांच वायरस से जूझ रही है। कोरोना वायरस ने तो कहर बरपा ही रखा है, बारिश के मौसम में फैलने वाली संक्रामक बीमारियों - डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के केसेज भी आने लगे हैं। इसके अलावा स्‍वाइन फ्लू के मामले भी 400 से ज्‍यादा हो गए हैं। इनमें से हर एक वायरस बेहद खतरनाक है। अगर समय पर इलाज न मिले तो जान पर बन आती है। दिल्‍ली में हर साल डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया फैलता है। लोगों को इनके बारे में अवेयर भी किया जाता रहा है। ऐसे में यह बेहद जरूरी हो जाता है कि हम इन वायरस के खतरों को समझें और उनसे बचने के लिए डॉक्‍टर्स की बताई गईं सावधानियों का पालन करें। कोरोना के डेढ़ लाख से ज्‍यादा केस दुनियाभर में इस वक्‍त सबसे खतरनाक महामारी के रूप में फैला है। अबतक 2 करोड़ से ज्‍यादा लोग संक्रमित हुए हैं और 7.70 लाख से ज्‍यादा की मौत हुई है। अपनी संक्रामकता के चलते यह वायरस तेजी से फैल रहा है। दिल्‍ली में कोरोना के 1.53 लाख से ज्‍यादा मामले सामने आए हैं और 4,196 मरीजों की मौत हो चुकी है। क्‍या है लक्षण और असर? श्‍वसन तंत्र पर सीधे असर करता है। लक्षण आम सर्दी-जुकाम, बुखार और खांसी की तरह ही होते हैं। COVID-19 के सबसे आम लक्षण बुखार, थकान और सूखी खांसी और सिरदर्द हैं। ये लक्षण आमतौर पर हल्के होते हैं और धीरे-धीरे शुरू होते हैं। कुछ लोग संक्रमित हो जाते हैं लेकिन उनमें कोई लक्षण नहीं दिखाई देते हैं। हालांकि सांस लेने में तकलीफ होने पर बिना देर किए डॉक्टरी सलाह जरूर लेनी चाहिए। बुजुर्गों और गंभीर बीमारियों से जूझ रहे लोगों को इस वायरस से ज्‍यादा खतरा है। सावधानी सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करें। बाहर निकलते समय मास्‍क पहने रखें। बार-बार हाथ धोते रहें। किसी ऐसी चीज को नंगे हाथ न छुएं जिसे किसी और ने छुआ हो। आंखों, नाक और मुंह को अपने हाथों से छूने से बचें।
August 18, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

नई दिल्ली। देश की राजधानी एक साथ पांच-पांच वायरस से जूझ रही है। कोरोना वायरस ने तो कहर बरपा ही रखा है, बारिश के मौसम में फैलने वाली संक्रामक बीमारियों - डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के केसेज भी आने लगे हैं। इसके अलावा स्‍वाइन फ्लू के मामले भी 400 से ज्‍यादा हो गए हैं। इनमें से हर एक वायरस बेहद खतरनाक है। अगर समय पर इलाज न मिले तो जान पर बन आती है। दिल्‍ली में हर साल डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया फैलता है। लोगों को इनके बारे में अवेयर भी किया जाता रहा है। ऐसे में यह बेहद जरूरी हो जाता है कि हम इन वायरस के खतरों को समझें और उनसे बचने के लिए डॉक्‍टर्स की बताई गईं सावधानियों का पालन करें।

कोरोना के डेढ़ लाख से ज्‍यादा केस
दुनियाभर में इस वक्‍त सबसे खतरनाक महामारी के रूप में फैला है। अबतक 2 करोड़ से ज्‍यादा लोग संक्रमित हुए हैं और 7.70 लाख से ज्‍यादा की मौत हुई है। अपनी संक्रामकता के चलते यह वायरस तेजी से फैल रहा है। दिल्‍ली में कोरोना के 1.53 लाख से ज्‍यादा मामले सामने आए हैं और 4,196 मरीजों की मौत हो चुकी है।

क्‍या है लक्षण और असर?

श्‍वसन तंत्र पर सीधे असर करता है। लक्षण आम सर्दी-जुकाम, बुखार और खांसी की तरह ही होते हैं। COVID-19 के सबसे आम लक्षण बुखार, थकान और सूखी खांसी और सिरदर्द हैं। ये लक्षण आमतौर पर हल्के होते हैं और धीरे-धीरे शुरू होते हैं। कुछ लोग संक्रमित हो जाते हैं लेकिन उनमें कोई लक्षण नहीं दिखाई देते हैं। हालांकि सांस लेने में तकलीफ होने पर बिना देर किए डॉक्टरी सलाह जरूर लेनी चाहिए। बुजुर्गों और गंभीर बीमारियों से जूझ रहे लोगों को इस वायरस से ज्‍यादा खतरा है।

सावधानी

सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करें। बाहर निकलते समय मास्‍क पहने रखें। बार-बार हाथ धोते रहें। किसी ऐसी चीज को नंगे हाथ न छुएं जिसे किसी और ने छुआ हो। आंखों, नाक और मुंह को अपने हाथों से छूने से बचें।