ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
ढाई लाख के नाम है मेरठ बदन सिंह बद्दो मामले में पांच पुलिसकर्मियों को शासन द्वारा किया गया बर्खास्त
August 24, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

(न्यूज़ )।पुलिस अभिरक्षा से फरार इनामी बदमाश बदन सिंह बद्​दो के मामले में शासन ने पांच पुलिसकर्मियों को बर्खास्त कर दिया है। केंद्रीय कारागार फतेहगढ़ में 29 मार्च 2019 को गाजियाबाद न्यायालय में पेशी के लिए ले जाया गया था। वापसी पर ‘बद्दो’ ने एक होटल में पार्टी के दौरान पुलिसकर्मियों को झांसा देकर फरार हो गया था। उस समय सुरक्षा में लगाए गए पुलिसकर्मियों पर एफआइआर दर्ज कराई गई थी। ‘बद्दो’ पर शासन ने ढाई लाख का इनाम घोषित किया था। काफी दिनों तक मामला ठंडे बस्ते में पड़ा रहा। कानपुर के बिकरू कांड के बाद मामले में तेजी आई। इससे पहले गार्द के प्रभारी दारोगा को बर्खास्त किया जा चुका है। शनिवार को गार्द में शामिल एक दीवान, तीन सिपाहियों व वाहन चालक को बर्खास्त कर दिया गया।
मेरठ के टीपी नगर के पंजाबीपुरा निवासी बदन सिंह उर्फ बद्दो फतेहगढ़ स्थित केंद्रीय कारागार में आजीवन कारावास की सजा काट रहा था। उसे 27 मार्च 2019 को गाजियाबाद न्यायालय में पेशी के लिए ले जाया गया था। वहां से 28 मार्च को बदन सिंह पुलिसकर्मियों से साठगांठ कर मेरठ पहुंच गया। वहां एक होटल में पार्टी के दौरान वह फरार हो गया था। इस मामले में दारोगा देशराज त्यागी, दीवान संतोष कुमार, सिपाही राजकुमार, ओमवीर, सुनील कुमार और चालक आरक्षी भूपेंद्र सिंह को निलंबित कर दिया गया था। बाद में सभी बहाल कर दिए गए, लेकिन तैनाती नहीं की गई। 31 जुलाई को दारोगा देशराज त्यागी को सेवानिवृत्ति के दिन ही पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने बर्खास्त कर दिया था।  उत्तर प्रदेश अधीनस्थ श्रेणी के पुलिस अधिकारी कर्मचारियों की दंड एवं अपील नियमावली 1991 के आधार पर गार्द में शामिल दीवान, सिपाहियों व वाहन चालक को भी बर्खास्त कर दिया गया है।