ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
दशहरा, रामलीला,प्रदर्शनी, रैली व जुलूस में गाइडलाइंस का पालन हो-डीएम
October 13, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

दशहरा, रामलीला,प्रदर्शनी, रैली व जुलूस में गाइडलाइंस का पालन हो-डीएम


फतेहपुर 13 अक्टूबर। जिलाधिकारी  संजीव सिंह ने बताया कि त्यौहारों के दौरान कोविड-19 महामारी के प्रसार पर नियंत्रण के विषय में केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन में निर्दिष्ट दिशानिर्देशों को निम्नलिखित प्रावधानों के साथ तत्काल प्रभाव से लागू किया जाता है
कार्यक्रम स्थल के विषय में
 इन आयोजनों के लिए स्थल पूर्व में चिन्हित कर उसकी सीमा सुनिश्चित करते हुए विस्तृत साइट प्लान तैयार कर लिया जाए जिससे शारीरिक दूरी बनाए रखने थर्मल स्क्रीनिंग व सैनिटाइजेशन के मानक के पालन में सुविधा होगी ।
कार्यक्रम स्थल पर सैनिटाइजर्स थर्मल स्कैनिंग उपकरणों की पर्याप्त आपूर्ति तथा फर्श पर शारीरिक दूरी हेतु व्रत(गोला) चिन्हांकन सुनिश्चित किया जाए, प्रवेश द्वार पर ही हैंड सैनिटाइजेशन तथा थर्मल स्क्रीनिंग आवश्यक होगा ।
कार्यक्रम स्थल पर दर्शकों एवं आगंतुकों के प्रवेश एवं निकास के अलग-अलग एवं यथासंभव एक से अधिक रास्ते सुनिश्चित किए जायेंगे ।
केवल वहीं स्टाफ तथा दर्शक प्रवेश के लिए अनुमन्य होंगे जिसमें किसी प्रकार के कोविड लक्षण नहीं होंगे यदि किसी में कोविड के लक्षण पाया जाता है तो उसे शिष्टता के साथ प्रवेश से मना किया जाएगा तथा चिकित्सा उपचार लेने की सलाह दी जाएगी।
सभी स्टाफ तथा दर्शकों को फेस कवर /मास्क का प्रयोग तथा कार्यक्रम स्थल के अंदर एवं बाहर शारीरिक दूरी के मानक का पालन करना अनिवार्य होगा।कार्यक्रम परिसर में आवश्यकता अनुसार स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था रखी जाएगी, जिसमें प्राथमिकता पर डिस्पोजल कप/ गिलास का प्रयोग किया जाएगा ।
 वातानुकूलन आदि के लिए सीपीडब्ल्यूडी द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन किया जाएगा जिसके अनुसार एसी का तापमान 24 से 30 डिग्री सेल्सियस ह्यूमिडिटी रेंज 40 से 70 डिग्री के अंतर्गत रखना होगा तथा क्रास वेंटिलेशन की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी ।सामूहिक खानपान/लंगर/अन्नदान आदि कार्यक्रमों में भोजन बनाने वितरण एवं अवशेष वस्तुओं के डिस्पोजल आदि में शारीरिक दूरी के नियमों तथा स्वच्छता एवं हाइजीन का पालन सुनिश्चित किया जाएगा।
 कार्यक्रम स्थल विशेषकर बारंबार प्रयोग में आने वाले स्थलों जैसे (दरवाजे के हैंडल, लिफ्ट के बटन, लाइन लगने वाले वेरीकेट, सीट, वशरूम की टोटी आदि)की नियमित रूप से सफाई एवं  विसंक्रमण  (01 प्रतिशत सोडियम हाइड्रोक्लोराइड का प्रयोग करते हुए )बारंबार किया जाएगा ।
प्रयोग किये गए फेस मास्क को परिसर में उपलब्ध कवर डस्टबिन में ही निस्तारित किया जाएगा ।शारीरिक दूरी तथा मास्क पहने के मानकों के अनुपालन की निगरानी हेतु क्लोज सर्किट कैमरा (सीसीटीवी) लगाने पर भी विचार कर लिया जाए । ऐसे सभी कार्यक्रमों में चिकित्सा आधारभूत सुविधाओं के दृष्टिगत कार्यक्रम स्थानों को निकटवर्ती हॉस्पिटल से मैपिंग करने की भी योजना बना ली जाए ।
कार्यक्रम आयोजन के विषय में काँटेन्टमेंट जोन में किसी भी त्यौहार विषयक गतिविधियों की अनुमति नहीं होगी । कंटेन्मेंट जोन  किसी भी आयोजक कार्यक्रम अथवा विजिटर्स आयोजन में आने की अनुमति भी नहीं होगी ।
प्रत्येक गतिविधियों के संचालन (धार्मिक स्थल, रैली, विसर्जन, सांस्कृतिक कार्यक्रम, मेला आदि) की पूर्व योजना सभी संबंधित संगठन/ व्यक्तियों /समूहों के साथ मिलकर तैयार कर ली जाए । शारीरिक दूरी के मानक तथा अन्य सुरक्षात्मक उपायों का प्रत्येक समय निरीक्षण किए जाने हेतु आयोजकों द्वारा यथोचित मैन पॉवर(मानव शक्ति) तैनात किए जाएंगे ।
कार्यक्रमों आयोजकों द्वारा अपने स्टाफ हेतु आवश्यकता अनुसार सुरक्षात्मक संसाधन यथा फेस कवर्स मास्क का  हैंड सैनिटाइजर, साबुन, सोडियम हाइपोक्लोराइट आदि की पर्याप्त व्यवस्था की जाए ।थर्मल स्कैनिंग शारीरिक दूरी तथा मास्क सुनिश्चित करने हेतु वालंटियर की भी तैनाती की जाए ।
आयोजकों द्वारा यथासंभव स्पर्श रहित भुगतान ( कांटेक्ट लेंस पेमेंट) की व्यवस्था की जाए तथा कार्यक्रम स्थल पर क्या किया जाए और क्या न किया जाए का मार्ग निर्देश भी प्रदर्शित किया जाए ।कार्यक्रम स्थल पर सीवीडी-19 से बचने के उपायों से संबंधित पोस्टर बैनर लगाए जाएं तथा यथा संभव ऑडियो विजुअल प्रचार-प्रसार भी किया जाए ।
कार्यक्रम आयोजक एवं कार्यक्रम में सम्मिलित होने वाले व्यक्तियों के विषय में 65 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों , गंभीर रोगों से ग्रसित व्यक्तियों, गर्भवती महिलाओं तथा 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को घर पर सुरक्षित रहने की सलाह दी जाए यह कार्यक्रम के आयोजकों/प्रबंधकों व उनके कार्मिकों पर भी लागू होगा ।
सार्वजनिक स्थलों पर सभी व्यक्ति से यथासंभव आपस में 6 फीट की दूरी बनाए रखें , फेस कवर, मास्क का प्रयोग अनिवार्यता करें साबुन से कम से कम 40 सेकंड तक नियमित रूप से हाथ धोएं (यदि यह प्रथम दृष्टया गंदे नहीं दिख रहे हो तब भी) तथा अल्कोहल युक्त हैंड सैनिटाइजर का (न्यूनतम 20 सेकंड तक) प्रयोग करें । 
संचरण मनको का सख्ती से पालन करें, खांसते/छींकते समय नाक व मुह पर टिशू पेपर/रुमाल/ कोहनी का प्रयोग करें तथा प्रयुक्त टिशू पेपर का उचित डिस्पोजल भी करें । सार्वजनिक स्थलों पर थूकने को सख्ती से प्रतिबंधित किया जाए।
 किसी भी बीमार व्यक्ति की सूचना तथा स्वयं के स्वास्थ्य की निगरानी के विषय में सूचना यथाशीघ्र राज्य व जिला हेल्पलाइन पर दी जाए ।आरोग्य सेतु एप का प्रयोग सभी को करने की सलाह दी जाए ।कार्यक्रम के दौरान संदिग्ध /पॉज़िटिव व्यक्ति पाए जाने की स्थिति में कार्यक्रम/ प्रदर्शन /रैली के दौरान किसी भी व्यक्ति के कोविड-19 के लक्षण पाए जाने पर जब तक उसे चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध नहीं हो जाती है तब तक के लिए आइसोलेट (प्रथकवास)करने हेतु प्रत्येक आयोजन स्थल पर एक पृथक आइसोलेशन स्थल की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए ।
संदिग्ध/ बीमार व्यक्ति को आइसोलेशन स्थल पर अन्य व्यक्तियों से अलग किया जाए ।
आइसोलेशन के दौरान व्यक्ति मास्क/फेस कवर सतत धारण किए रहेगा जब तक कि चिकित्सक द्वारा परीक्षण न कर लिया जाए ।
यदि उस व्यक्ति में कोविड के लक्षण दिखे अथवा स्वास्थ्य में और गिरावट आए तो निकटतम अस्पताल /क्लीनिक /स्वास्थ्य सेवा/ जिला अथवा स्टेट हेल्पलाइन को सूचित किया जाए ।
संदिग्ध बीमार व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों की ट्रेसिंग एवं विसंक्रमण की कार्यवाही की जाएगी ।
जहां पर पॉजिटिव व्यक्ति पाया जाएगा उस स्थान को भी विसंक्रमित किया जाएगा ।
रैली/जुलूस/ मूर्ति स्थापना एवं विसर्जन के संबंध में मूर्तियों की स्थापना पारंम्परिक परन्तु खाली स्थान पर की जाए उसका आकार छोटा रखा जाए तथा मैदान की क्षमता से अधिक लोग न रहे ।
चौराहो तथा सड़क पर कोई मूर्तियां , ताज़िया न रखी जाए आवश्यकता अनुसार वैकल्पिक व्यवस्था हेतु जिला प्रशासन आयोजन समितियों से विचार-विमर्श करके प्रोटोकॉल के अनुसार कार्यवाही करें । 
 मूर्तियो के विसर्जन में यथासंभव छोटे वाहनों का प्रयोग किया जाए कार्यक्रम में न्यूनतम व्यक्ति ही सम्मिलित रहे ।
 रैली/ विसर्जन के लिए रूट प्लान विसर्जन स्थलों का चयन अधिकतम व्यक्तियों की संख्या का निर्धारण शारीरिक दूरी का पालन जैसे बिंदुओं की पूर्व में ही योजना बना ली जाए तथा इसे दृढ़ता के साथ लागू किया जाए ।
रैली, विसर्जन के समय भीड़ निर्धारित सीमा से अधिक न हो तथा शारीरिक दूरी व मास्क पहनने के मानक का पालन अवश्य किया जाए । ऐसी रैलियों की संख्या तथा इसमें चिन्हित दूरी का उचित प्रबंधन किया जाए ।
ऐसी रैली या विसर्जन जिसमे लंबी दूरी चिन्हित हो उनमे एम्बुलेंस की सेवा भी प्राप्त की जाए ।
सभी जिलों में प्रत्येक आयोजन स्थल पर सार्वजनिक रूप से प्रचार प्रसार हेतु पब्लिक एड्रेस सिस्टम का उपयोग किया जाए ।
रामलीला /दशहरा से संबंधित सामुहिक गतिविधियां निम्न प्रतिबंधों के अधीन होंगी।
 किसी भी बन्द स्थान, हाल/ कमरे की निर्धारित क्षमता का 50%  किंतु अधिकतम 200 व्यक्तियों तक को फेस मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, थर्मल स्क्रीनिंग व सैनिटाइजर्स हैंड वॉश की उपलब्धता की अनिवार्यता के साथ ।
किसी भी खुले/स्थान मैदान पर ऐसे स्थानों के क्षेत्रफल के अनुसार फेस मास्क सोशल डिस्टेंसिंग थर्मल स्क्रीनिंग व सैनिटाइजर्स हेड की उपलब्धता की अनिवार्यता के साथ ।उपरोक्त किसी भी कार्यक्रम यथा जयंती मेला प्रतिमा स्थापना एवं विसर्जन /जागरण /रामलीला /प्रदर्शनी /रैली /जुलूस आदि के लिए संबंधित उप जिला मजिस्ट्रेट से पूर्व अनुमति लेना अनिवार्य होगा । उपरोक्त दिशा निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाए ।