ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
डायबिटीज शिशु के गर्भ में पलने के दौरान भी पनप सकती है
October 11, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

डायबिटीज शिशु के गर्भ में पलने के दौरान भी पनप सकती है

(न्यूज़)।टाइप-1 डायबिटीज शिशु के गर्भ में पलने के दौरान भी पनप सकती है।  ब्रिटेन स्थित एक्जिटर यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने अपने हालिया अध्ययन के आधार पर यह दावा किया है। पहले माना जाता था कि प्रतिरोधक तंत्र की अतिसक्रियता से होने वाली यह बीमारी शिशु के छह महीने की उम्र लांघने के बाद ही उभरती है। मुख्य शोधकर्ता डॉ.एलिजाबेथ रॉबर्टसन के मुताबिक टाइप-1 डायबिटीज में प्रतिरोधक सेल्स इन्सुलिन का उत्पादन करने वाली बीटा कोशिकाओं पर हमला कर उन्हें नष्ट कर देती है। इससे शरीर में इंसुलिन पैदा नहीं हो पाता और ब्लड शुगर का स्तर बेकाबू होने लगता है। ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने के लिए मरीज को इंसुलिन के इंजेक्शन लेने पड़ते हैं। ताजा अध्ययन से पता चला है कि टाइप-1 डायबिटीज शिशु के पैदा होने से पहले पनप सकती है।यह  अध्ययन प्रतिरोधक तंत्र में आने वाले विकार और टाइप-1 डायबिटीज के विकास की गहरी समझ हासिल कर बीमारी की रोकथाम के उपाय और इलाज खोजने में मदद करेगी।