ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
चोरी के पांचवे आरोपी को पुलिस ने तमंचा ₹8000 नगद व आभूषणों के खाली डिब्बों के साथ पकड़ा
July 25, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

चोरी के पांचवे आरोपी को पुलिस ने तमंचा ₹8000 नगद व आभूषणों के खाली डिब्बों के साथ पकड़ा
----- कानूनी कार्रवाई कर न्यायालय में किया गया पेश
----- 2 महीने पहले पूर्व शिक्षा मंत्री के करीबी के घर हुई थी बड़ी चोरी
बिंदकी फतेहपुर
पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर फरार चल रहे चोरी के पांचवे आरोपी को तमंचा करतूस ₹8000 नगद चांदी की बिछिया तथा आभूषणों के खाली 39 डिब्बों के साथ गिरफ्तार कर लिया पुलिस ने कानूनी कार्रवाई कर आरोपी को न्यायालय में पेश किया।
           शनिवार की सुबह मुखबिर की सटीक सूचना पर कोतवाली बिंदकी क्षेत्र के भवानीपुर गांव के समीप अमेंना मोड़ पर कोतवाली के सब इंस्पेक्टर इजहार अहमद कस्बा प्रभारी मुकेश कुमार हेड कांस्टेबल असलम खान कांस्टेबल संदीप तिवारी पुलिस बल के साथ पहुंचे और मौके से बाल गोविंद पुत्र रमेश कुमार निवासी अमेंना को एक तमंचा एक जिंदा कारतूस एक भरी कारतूस ₹8000 नगद चांदी की पांच बिछिया एक बैग आभूषणों के छोटे-बड़े 39 खाली डिब्बे दो एटीएम कार्ड मौके से बरामद किए पुलिस ने आरोपी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर न्यायालय में पेश किया बताते चलेगी 22 मई की रात को कस्बे के कुंवरपुर रोड आजाद नगर मोहल्ले में पूर्व शिक्षा मंत्री अमरजीत सिंह जनसेवक के करीबी उपेंद्र सिंह गौतम दो के घर नगदी व जेवर सहित करीब 3000000 से अधिक की संपत्ति की चोरी हुई थी जिसमें चार आरोपियों को एसओजी तथा पुलिस टीम ने 18 जुलाई को नगदी व जेवर के साथ पकड़ चुके थे जबकि पांचवां आरोपी बाल गोविंद फरार था जिसे पुलिस ने मुखबिर की सटीक सूचना पर दबोच लिया पुलिस के अनुसार पकड़ा गए आरोपी बाल गोविंद 7 माह पहले औंग थाना क्षेत्र के रामपुर गांव में कमल तिवारी के घर में घुसकर डकैती डालने का प्रयास किया था लेकिन गृह स्वामी कमल तिवारी का पुत्र अमन तिवारी के जाग जाने पर आरोपी युवक के तमंचे से ही फायर किया गया था जिसके चलते अमन तिवारी गंभीर घायल हुआ था करीब 1 महीने तक चले उपचार के बाद अमन तिवारी का स्वास्थ्य ठीक हुआ था उपेंद्र सिंह गौतम दो घर में हुई चोरी के मामले में अभी भी कुछ जेवरात मिलना बाकी है पुलिस का लगातार प्रयास है कि बाकी भी जेवरात मिल जाए इसी के प्रयास में लगातार पकड़े गए आरोपियों के बताए अनुसार सर्राफा दुकानदारों में छापेमारी तथा पूछताछ का काम किया जा रहा है