ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
चलती गाड़ी में सट्टा लगाते तीन सटोरिये पुलिस के हत्थे चढ़े
October 14, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

चलती गाड़ी में सट्टा लगाते तीन सटोरिये पुलिस के हत्थे चढ़े

एक बोलेरो, पन्द्रह हजार रुपये, तीन मोबाइल व सट्टे की पर्चियां बरामद


फ़तेहपुर ।जिले में सट्टे के नाम पर युवाओं को बरगलाकर सटोरिये लाखों की लूट को अंजाम दे रहे हैं। हालांकि एसओजी टीम की छापेमारी से शहर से सटोरियों ने अपना स्थान बदलकर काम शुरू कर रखा था जिनके पीछे लगातार पुलिस अपने मुखबिरों का जाल बिछाए थी। मंगलवार शाम ऐसी ही सूचना पर आईपीएल मैच में सट्टा लगाते हुए एसओजी टीम व बाकरगंज चौकी इंचार्ज ने तीन सटोरियों को पकड़ा है। पुलिस ने तीनों के पास से एक बोलेरो, तीन मोबाइल व नकदी बरामद की है।
बता दें कि एसओजी प्रभारी विनोद मिश्र को सूचना मिली कि कुछ सटोरिये हाइवे में चलती गाड़ी में सट्टा लगाते हैं। जिस पर विश्वास करके प्रभारी ने एसओजी टीम व बाकरगंज चौकी इंचार्ज अनिरुद्ध द्विवेदी के साथ हाइवे पर रनिंग चेकिंग अभियान चलाया। जिस पर शहर के किनारे हाइवे पर एक संदिग्ध बोलेरो खड़ी नजर आई। पुलिस को देख कर बोलेरो सवार वाहन सहित भागने लगे। पुलिस ने बोलेरो को घेरकर उसमें सवार तीन युवकों को धर दबोचा। जिन्होंने अपना नाम सुभाष चंद्र पांडे पुत्र चंद्रशेखर पांडे निवासी ज्वालागंज, अमित कुमार सोनी पुत्र रमेश चंद्र सोनी निवासी कृष्णबिहार व मो. फैजान पुत्र अब्दुल रहीम बताया। पुलिस के अनुसार तीनो युवक एक फाइनेंस कंपनी में वाहन सीजिंग का काम करते हैं इसी की आड़ में यह चलती गाड़ी में सट्टा भी खिलवाते हैं। पुलिस ने बताया कि मैच के दौरान यह किराए की गाड़ी बुक करके फ़तेहपुर से प्रयागराज तक चलती गाड़ी में सट्टे के रेट देकर लोगों के रुपये लगवाते थे जिनकी कई वाइस रिकार्डिंग भी इनके मोबाइल में मिली हैं। पुलिस ने इनके कब्जे से सट्टे की पर्चियां, तीन मोबाइल व पन्द्रह हजार रुपये बरामद किए हैं। पुलिस ने तीनो के खिलाफ मुकदमा दर्जकर विधिक कार्रवाई शुरू कर दी है।