ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
बिंदकी नगर में कोरोना संक्रमण का विस्तार जारी प्रशासनिक व्यवस्था लचर
July 27, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 


आधा दर्जन से अधिक एक्टिव मामले
विवार को शोसल मीडिया मे चर्चा
आधिकारिक घोषणा सोमवार की शाम


( गिरिराज शुक्ला/ नरेंद्र श्रीवास्तव )


 बिंदकी /फतेहपुर


जिले की प्रमुख व्यवसाईक नगरी बिंदकी भी अब कोविड 19 के क्रूर शिकंजे में जकड़ती जा रही है। संक्रमित लोगों की संख्या मैं इजाफा हो रहा है लेकिन प्रशासन लगातार ढिलाई बरत रहा है।आज ही जिन चार संक्रमित मरीजों की आधिकारिक पुष्टि की गयी उनके पाजिटिव होने की सूचना सोशल मीडिया और आमजन मे रविवार को थी लेकिन चौबीस घंटे बाद इसकी पुष्टि की गयी।
      कुछ मामलों को देखें तो स्पष्ट हो जाता है कि स्थानीय प्रशासन ने प्रारंभिक चरण में जो सक्रियता दिखाई अब वह गायब हो चुकी है। बिंदकी में सबसे पहला संक्रमित मरीज जय कुमार गुप्ता पाया गया चिकित्सा प्रशासन की लापरवाही की वजह से कोविड-19 अस्पताल में दौरान इलाज उसकी अत्यधिक रक्तस्राव से मौत हो गई जिसके बारे में परिजनों का जहां कहना था की डायलिसिस के बाद बैंडेज नहीं लगाया गया था इसलिए उसकी मौत हुई वहीं अस्पताल प्रशासन ने उसे कलाई की नस काटकर आत्महत्या किया जाना ठहरा दिया।
       दूसरा मामला पैगंबरपुर मोहल्ले के एक युवक का जहां पाजटिव रिपोर्ट आने के बाद भी वहां पर सेनेटाइजेशन का काम दूसरे दिन कराया गया। इससे बाद नई कॉलोनी ललौली रोड के एक युवक के बारे में पाजिटिव होने की जानकारी जिला अधिकारी द्वारा प्रेस नोट के माध्यम से तो दी लेकिन देर रात तक हल्का लेखपाल वगैरह नई कॉलोनी में टहलते रहे और उन्हें प्रभावित मरीज के नाम की भी जानकारी नहीं हो सकी। दूसरे दिन नगर पालिका व राजस्व विभाग मौके पर पहुंचा। चौथे घोषित मरीज जो इलाहाबाद बैंक के पास का बताया गया इसको लेकर भी देर रात तक संशय बना रहा। आज भी दिन मे एरिया को ना तो बैरिकेड किया गया और ना ही ऐतिहाती कदम उठाए गए। इलाहाबाद बैंक और  ग्रामीण बैंक दोनों पूर्ववत कार्य करते रहे शाम को वहाँ बैरीकेडिंग की गयीं।
       चर्चा में एक मामला और रहा पुराने इलाहाबाद बैंक के पास रहने वाले एक व्यवसाई को कई दिनों से बुखार आ रहा था उसने जांच के लिए सैंपल दिया और अपने को एडमिट कराना चाहा लेकिन उसे यह कहकर वापस कर दिया गया जब तक कोरोना पाजिटिव की रिपोर्ट नहीं आ जाती उसे कोविड़ 19 अस्पताल में एडमिट नहीं किया जा सकता नतीजतन 3 दिन पूर्व उसकी मौत हो गई और अगले दिन उसका अंतिम संस्कार भी कर दिया गया। आज तक उसकी रिपोर्ट नहीं आ पाई। दुर्भाग्यवश उसकी रिपोर्ट पाजिटिव आई तो उसकी ट्रैवल हिस्ट्री या उसके या उसके शव के संपर्क में आए लोगों की पहचान करना मुश्किल होगा।
       जय कुमार गुप्ता के पुरानी बिंदकी निवासी भाई सहित नगर बिंदकी के खजुआ चौराहा मोहल्ला जहानपुर  कटरा महाजनी गली के 4 लोगों के पॉजिटिव होने की सूचना रविवार की शाम से ही सोशल मीडिया व नगर बिंदकी में चर्चा का विषय बनी हुई है लेकिन आज शाम 6:00 बजे तक इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं हो सकी। इस तरह प्रशासनिक स्तर पर बढ़ती जा रही उदासीनता नगर बिंदकी को खतरनाक दिशा की ओर ले जाती दिखाई पड़ रही है।