ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले पूर्णिया में पूर्व राजद नेता की गोली मारकर हत्या
October 4, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले पूर्णिया में पूर्व राजद नेता की गोली मारकर हत्या

(न्यूज़)।बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले पूर्णिया में राष्ट्रीय जनता दल(RJD) के पूर्व राज्य सचिव की उनके ही घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी। केहाट थाना क्षेत्र के मुर्गी फार्म रोड स्थित राजद के पूर्व एससी-एसटी प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव रहे शक्ति मल्लिक उम्र 40 साल को घर में घुसकर अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। अपराधियों ने सिर में तीन गोली मारी। शक्ति मल्लिक के परिजनों ने राजद के बड़े नेताओं पर हत्या  करवाने का आरोप लगाया है। 
घटना के सन्दर्भ में मृतक शक्ति मल्लिक की मां मालती दवी ने कहा कि सुबह साढ़े 6 बजे गमछा से चेहरा ढके तीन नकाबपोश लोगों ने घर में घुसकर बेटे के सिर और छाती में तीन गोलियां मार दी। उसे आनन फानन में सदर अस्पताल लाया गया जहां उसकी मौत हो गयी।
तेजस्वी यादव पर हत्या कराने का आरोप-
मृतक के पिता और पत्नी ने राजद नेता तेजस्वी यादव, तेजप्रताप यादव, कालू पासवान अनिल साह और सुनीता देवी पर हत्या करवाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि शक्ति मल्लिक पहले राजद में प्रदेश सचिव थे। पार्टी ने टिकट देने के नाम पर उनसे 50 लाख रुपये की मांग की थी। इसके बाद उसे पार्टी से हटा दिया गया था।  वह इस बार रानीगंज से विधानसभा चुनाव लड़ना चाहते थे। इसी वजह से राजद नेताओं ने उसकी हत्या करवा दी है।  
वारदात की सूचना मिलते ही एसपी विशाल शर्मा, सदर एसडीपीओ आनंद पाण्डेय और खजांची हाट थाना प्रभारी सुनील कुमार मण्डल मौके पर पहुंच कर परिजनों से बात कर उनका बयान भी लिया है। सदर एसडीपीओ आनंद कुमार पांडे ने कहा कि फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। परिजन जो भी बयान देंगे उसकी गहनता से जांच कर उचित कानूनी कार्रवाई की जायेगी।
राजद की तरफ से टिकट के लिए पैसे की डिमांड-
उधर जेडीयू के कार्यकारी अध्यक्ष अशोक चौधरी ने पूर्णिया में हुई राजद नेता शक्ति मलिक की हत्या को लेकर बड़ा बयान दिया है। अशोक चौधरी ने कहा है कि राजद की तरफ से टिकट के लिए पैसे की डिमांड की गई। पैसा देने के लिए शक्ति मलिक पर दबाव बनाया जा रहा था और बाद में उनकी हत्या करवा दी गई।