ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
भोजन जन सेवा समिति ने अस्ती गांव के दो दर्जन जरूरतमंद लोगों को निःशुल्क राशन सामग्री वितरण किया गया
September 15, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

फतेहपुर। भोजन जन सेवा समिति के द्वारा निशुल्क भोजन एवं राशन सामग्री वितरण का कार्य निरंतर ऐसे एकल बुजुर्ग महिला पुरुष व जरूरतमंदों को चिन्हांकन कर उन्हें राशन सामग्री देने का कार्य जारी है जिस क्रम में आज समिति के द्वारा शहर से कुछ किलोमीटर दूर अस्ती गाँव के प्राथमिक विद्यालय की प्रधानाध्यापिका आसिया फारूकी ने समिति के संस्थापक कुमार शेखर से बताया कि उस गाँव में कुछ ऐसे घर हैं जहां  सुबह शाम चूल्हा जलना मुश्किल पड़ रहा है कुमार शेखर ने ऐसे सभी जरूरतमंद लोगों के सूची ली और  2 दिन में समिति के सहयोग से 22 परिवार दिहाड़ी मजदूर, एकल दम्पति,को निःशुल्क राशन सामग्री आटा, तेल, दाल, सब्जी, चावल, आदि जरुरत का सामान देने का पुनीत कार्य  किया गया साथ में अस्ती प्राइमरी विद्यालय परिसर पर बच्चो के लिये तमाम शिक्षण संसाधन के साथ साथ बच्चो में शिक्षा की अलख जगाई और उनके शैक्षिक स्तर में भी गुणवत्ता वृद्धि को देखकर समिति के संस्थापक कुमार शेखर ने प्रधानाध्यापिकाआसिया फारूकी को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मनित किया।
भोजन जन सेवा समिति टीम कुमार शेखर,राजू राईन, नरेश गुप्ता,मनीष केसरवानी,रानू केसरवानी,आसिया फारूकी,रीगन कुमार,यतीश रायजदा,श्रेष्ठ गुप्ता,संतोष साहू,वारिस अली,आकिब भाई,लाला पेंटर,आदि रहे।
अभी भी कुछ ऐसे घरों के चूल्हे हैं जो सुबह शाम जलना  मुश्किल  है ऐसे में हमारी जिम्मेदारी है कि कोई हमारे आस पास भुखमरी से पीड़ित न हो ये हमारी और आपकी देश हित के खातिर नैतिक जिम्मेदारी है।
 इसी क्रम में समिति के मुख्य उद्देश्य को मद्देनजर रखते हुए पिछले कई वर्षों के दिनानुसार उसी अंदाज, जोश  के साथ पूरी टीम ऐसे लोगों को चिन्हित कर के उन्हें राशन एवं हर संभव मदद पहुंचाने का कार्य कर रही है।
याद रखिए ईश्वर ने अगर आपको सक्षम बनाया है तो उस ईश्वर ने भी आपसे कुछ तो उम्मीद की होगी कि आप अपने समाज  और देश के काम आ सके हमें यह कभी नहीं भूलना चाहिए कि हम अपने देश को दिशा दे सकते हैं, हम अपने देश की दशा बदल सकते हैं  बस जरूरत है एक संकल्प की और उसी संकल्प को पूर्ण करने की प्रयास में लगी है।​