ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
भारत और चीन चीन के बीच कमांडर स्तर की बातचीत फिर बेनतीजा, सीमा पर तनाव बरकरार
September 13, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

नई दिल्ली,  पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव कम करने के लिए भारत और चीन के शीर्ष कमांडरों के बीच शनिवार को फिर बातचीत हुई। चुशूल में दिन में 11 बजे से लेकर तीन बजे तक बातचीत चली। हालांकि यह बातचीत भी बेनतीजा रही। मालूम हो कि चीन की सेना पीएलए की ओर से सात सितंबर को भारतीय क्षेत्र में कब्जा करने की मंशा से की गई उकसाने वाली कार्रवाई के बाद से दोनों देशों के सैन्य प्रतिनिधियों के बीच बातचीत का दौर जारी है। इस सिलसिले में शनिवार को फिर बातचीत हुई जिसमें कोई ठोस परिणाम सामने नहीं आया।

अगले कुछ दिनों में सैन्य प्रतिनिधियों की एक और उच्चस्तरीय बैठक होगी। भारत के कोर कमांडर लेफ्टीनेंट जनरल हरिंदर सिंह और चीन के मेजर जनरल लियु लिन के बीच दो अगस्त के बाद से कोई बातचीत नहीं हुई है। सरकार के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि दोनों देशों की सेनाओं के बीच भरोसा बिल्कुल खत्म हो गया है। दूसरी ओर चीन और पाक से निपटने के लिए भारतीय वायुसेना ने डेढ़ साल पहले से पश्चिमी मोर्चे पर अपनी ताकत बढ़ानी शुरू कर दी है। सनद रहे कि गुरुवार को मास्को में विदेश मंत्री एस जयशंकर और उनके चीनी समकक्ष के बीच लंबी वार्ता हुई थी।इस वार्ता के बाद दोनों देशों ने संयुक्त साझा बयान जारी जिससे साफ है कि पूर्वी लद्दाख में जारी सैन्य तनाव शीघ्र खत्म नहीं होने जा रहा है। वैसे तो दोनों मंत्रियों के बीच सैन्य तनाव खत्म करने के लिए पांच सूत्रीय फार्मूले पर सहमति बनी लेकिन चीन पूर्व की स्थिति बहाल करने से मुकर रहा है। चीनी सेना की तरफ से एलएसी पार करने की कोशिश के बाद से अभी तक दोनों सेनाओं के बीच कई दौर की लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की या कोर कमांडर स्तर की बातचीत हो चुकी है लेकिन विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है।