ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
बांधवगढ़ के हाथियों को कोई भी ले सकता है गोद, सर्टिफिकेट भी मिलेगा
September 25, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

बांधवगढ़ के हाथियों को कोई भी ले सकता है गोद, सर्टिफिकेट भी मिलेगा

उमरिया (मध्य प्रदेश)।अभी तक आपने बच्चों से लेकर स्कूल को गोद लेने की बात सुनी होगी, लेकिन अब हाथी को भी गोद लिया जा सकता है। वन्य प्राणी संरक्षण के लिए यह अभियान बांधवगढ़ में पहली बार शुरू हो रहा है। अब कोई भी बांधवगढ़ के हाथियों को गोद ले सकता है। इसके लिए उनके भोजन की जिम्मेदारी लेनी होगी।
इसके बदले में गोद लेने वाले वन्य जीव प्रेमियों को डिजिटल सर्टिफिकेट मिलेगा। साथ ही हाथियों की रिपोर्ट के साथ उनका नाम भी दर्ज होगा। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के फील्ड डायरेक्टर विंसेंट रहीम ने बताया कि हाथियों को गोद लेने का कार्यक्रम निर्धारित किया जा रहा है।
*रिपोर्ट में नाम व सहयोग का रहेगा जिक्र*
उन्होंने बताया कि पार्क के हाथियों से विशेष लगाव रखने वाले लोग इन्हें गोद ले सकेंगे। इनके भोजन, दवा व अन्य रख-रखाव के लिए राशि देनी होगी। यह समय एक दिन से लेकर हफ्ते, माह व सालभर तक शुल्क के अनुसार रहेगा। बदले में पार्क प्रबंधन वन्य जीव प्रेमियों को डिजिटल सर्टिफिकेट देगा। हाथियों से संबंधित रिपोर्ट में उनके नाम व सहयोग का जिक्र रहेगा।
*बढ़ने लगे हाथ*
फील्ड डायरेक्टर ने बताया कि बांधवगढ़ के हाथियों को गोद लेने में कई लोगों ने दिलचस्पी दिखाई है। जल्द ही कार्यक्रम तय करके ऐसे लोगों को इस अभियान से जोड़ा जाएगा।
*इस तरह कर सकेंगे खर्चा*
विंसेंट रहीम ने बताया कि जरूरी नहीं कि पूरे साल के लिए हाथियों को गोद लिया जाए। महीने, तीन महीने, छह महीने का भी खर्च उठा सकते हैं। एक हाथी पर प्रतिदिन पांच से सात सौ रुपये का खर्च आता है। इसका अभी हिसाब-किताब तैयार किया जा रहा है।