ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
असम की रहने वाली तीन महिलाएं अपने-अपने पतियों से झगड़कर आ पहुंची अलीगढ़, बमुश्किल समझा बुझा कर भेजा असम 
October 3, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

असम की रहने वाली तीन महिलाएं अपने-अपने पतियों से झगड़कर आ पहुंची अलीगढ़, बमुश्किल समझा बुझा कर भेजा असम 

अलीगढ़।असम की रहने वाली तीन महिलाएं अपने-अपने पतियों से झगड़कर अलीगढ़ आ पहुंची और किराए का एक कमरा लेकर जीवन यापन करने लगीं।लोकेशन मिलने के बाद असम पुलिस अलीगढ़ आई और तीनो को वापस ले गई।मोनाबाड़ी,जिंजिया, विश्वनाथ (असम)निवासी पप्पू रविदास की पत्नी प्रिया उर्फ सनम उर्फ लैला का 27 अगस्त को अपने पति से किसी बात को लेकर विवाद हो गया था।विवाद के बाद क्षुब्ध होकर वह 7 साल की बेटी बिंदिया को लेकर घर से निकल पड़ी।इसी तरह मोहल्ले की ही गीता उर्फ पूनम पत्नी अनिल रविदास व पूजा पत्नी लोबो का भी अपने पति से किसी बात को लेकर विवाद हो गया। तीनों घर से गुस्से में दिल्ली के लिए चल दीं,लेकिन किसी तरह भटकते हुए अलीगढ़ आ पहुंची। पहले तो तीनों ने कुछ दिन इधर-उधर बिताये, उसके बाद नगला मसानी स्थित लक्ष्मणपुरम पहुंची।यहां उन्हें रूपेश कुमार के यहां किराए पर कमरा मिल गया। तीनों किराए पर रहकर मेहनत-मजदूरी कर रही थी। इस बीच पति की ओर से गुमशुदगी दर्ज कराने के बाद असम पुलिस उनकी तलाश कर रही थी,जिसमें असम की जिंजिया पुलिस को उनकी मोबाइल लोकेशन अलीगढ़ की मिली।इस पर पुलिस तीनों महिलाओं के स्वजनों को लेकर गुरुवार रात अलीगढ़ आ गई।स्थानीय पुलिस के सहयोग से पुलिस रूपेश के घर पहुंची।जहां तीनों महिलाएं बच्ची समेत मौजूद मिली।असम पुलिस ने तीनों से साथ चलने को कहा तो उन्होंने साथ चलने से मना कर दिया। किसी तरह उन्हें समझाया गया। तब कहीं असम जाने को तैयार हुई।इंस्पेक्टर देहलीगेट आशीष कुमार ने बताया कि तीनों महिलाओं को बमुश्किल उनके घर असम भेजा गया।