ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
अपराधियों के घर ही नहीं गाड़ियां भी जब्त होंगी, माफिया गिरोहों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की तैयारी
August 13, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

प्रयागराज ।अपराधियों के घर ही नहीं, उनकी गाड़ियां भी जब्त होंगी। पुलिस के निशाने पर अतीक अहमद गिरोह के साथ साथ बच्चा पासी और राजेश यादव गैंग के भी अपराधी हैं। 62 अपराधियों के बारे में पुलिस ने डीएम, पीडीए और आरटीओ आफिस से पत्राचार किया है। जल्द ही उनके घर ही नहीं गाड़ियां भी जब्त की जाएंगी। शासन के निर्देश पर पुलिस अतीक अहमद, बच्चा पासी, राजेश यादव और दिलीप मिश्रा गैंग के खिलाफ कार्रवाई में जुटी है। पुलिस ने मुख्य रूप से अतीक समेत अन्य गैंगों के 62 अपराधियों के खिलाफ पिछले दिनों गैंगस्टर की कार्रवाई की है। अब इन अपराधियों की अपराध से कमाई गई संपत्तियों पर पुलिस कार्रवाई करने जा रही है। संपत्तियां चिह्नित करने के लिए जिलाधिकारी, पीडीए, नगर निगम, और आरटीओ को पत्र भेजे गए हैं। इन अपराधियों ने जितनी भी चल अचल संपत्तियां बनाई हैं, सभी को जब्त किया जाएगा। इसमें गाड़ियां भी शामिल हैं। करीबी रिश्तेदारों की संपत्तियों की भी जांच की जाएगी।
 आईजी ने कहा, तेज करें कार्रवाई
प्रयागराज। आईजी केपी सिंह ने प्रयागराज के अधिकारियों के साथ बुधवार को मीटिंग कर अतीक गिरोह के लोगों की संपत्तियों की चिन्हित कर जल्द से जल्द जब्त करने के निर्देश दिए हैं। अधिवक्ता पर हमले में एसएसआई धूमनगंज निलंबित 
इलाहाबाद हाईकोर्ट के अधिवक्ता अभिषेक शुक्ला पर हमले के मामले की गाज धूमनगंज एसएसआई अनुराग शर्मा को एसएसपी ने बुधवार रात निलंबित कर दिया। एसएसपी के मुताबिक अधिवक्ता से जुड़ा मामला होने के बाद भी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। गौरतलब है कि इंस्पेक्टर धूमनगंज एके चतुर्वेदी कोरोना से पीड़ित हैं। उनकी अनुपस्थिति में एसएसआई अनुराग शर्मा के पास ही धूमनगंज का चार्ज था।
अनुराग शर्मा पर यह आरोप भी लगाया गया है कि 10 अगस्त को चौफटका के पास सड़क हादसा होने के बाद कोई कार्रवाई नहीं की गई और उच्चाधिकारियों को फोर्स भेजने की बात कहकर गुमराह किया गया।इसी तरह कीडगंज के नई बस्ती प्रभारी रणजीत सिंह को भी निलंबित किया गया। उन पर आरोप था कि उन्होंने जनता के साथ अभद्र व्यवहार और मारपीट की, जिससे पुलिस की छवि धूमिल हुई। एक युवक ने उन पर मारपीट का आरोप लगाते हुए एसएसपी समेत तमाम अधिकारियों से शिकायत की थी।