ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
आरोपी छात्रा ने बाथरूम के शीशे पर ‘डिसक्वालीफाइड ह्यूमन’ लिखकर मारी गोली, दोनों हाथ थे लहूलुहान
August 30, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

 लखनऊ। दोहरे हत्याकांड की सनसनीखेज वारदात के बाद पुलिस ने आरडी बाजपेई का बंगला खंगाला तो बाथरूम में एक अजीबोगरीब बात दिखी। वहां शीशे पर लाल रंग से लिखा था ‘डिसक्वालीफाइड ह्यूमन’ और बीचो-बीच गोली का निशान था। आरोपी ने बताया कि उसने जैम से लिखकर खुद ही गोली मारी थी। हालांकि, उसने ऐसा क्यों लिखा? इस बारे में पुलिस ने जानकारी से इनकार किया है। पुलिस आयुक्त का कहना है कि पुलिस की एक टीम आरोपी छात्रा से जानकारी ले रही है।आरोपी ने अपने दोनों हाथों में रेजर से 100 से अधिक वार किए थे। 
पुलिस आयुक्त का कहना है कि उसने अवसाद के चलते खुद को लहूलुहान किया था। उसके हाथों पर लगी चोटों में से कुछ पुरानी भी थीं।

राष्ट्रीय स्तर का आरोपी हैं शूटर 

पुलिस आयुक्त ने बताया कि मां और भाई की हत्या की आरोपी राष्ट्रीय स्तर की शूटर है। वह 10 मीटर पिस्टल इवेंट में हिस्सा लेती थी। वर्ष 2014 में उसने पश्चिम बंगाल रायफल एसोसिएशन कोलकाता की तरफ से आयोजित 57वीं नेशनल शूटिंग चैम्पियनशिप कंपटीशन में हिस्सा लिया था। 
वह लोरेटो स्कूल में हाईस्कूल की छात्रा है। उसका भाई सर्वदत्त गोमीतनगर के संस्कृत विश्वविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई कर रहा था।
दोनों हाथ जेब में डालकर की घाव छिपाने की कोशिश
पुलिस आयुक्त ने बताया कि आरोपी छात्रा से जब बातचीत की जा रही थी तो उसने अपने दोनों हाथ पैंट की जेब में डाल रखे थे। हाथों को दुपट्टे से ढक भी रखा था। ऐसा लगा जैसे वह कुछ छिपाने की कोशिश कर रही है। उसके हाथों से दुपट्टा हटवाया गया तो कोहनी तक पट्टी बंधी दिखी। हथेलियों पर भी कई ताजे कट लगे हुए थे। पट्टी खुलवाकर देखा तो 100 से अधिक कट के निशान देखकर सब हैरान रह गए। 
पूछने पर उसने बताया कि रेजर से यह चोटें उसने खुद लगाई हैं। यह सुनकर पुलिस का माथा ठनका और उससे एक ही सवाल तरीका बदल-बदलकर पूछा गया। हालांकि, पुलिस को ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी और उसने मां और भाई को गोली मारने की बात कुबूल कर ली।