ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
12 वर्षीय मौसेरे भाई की हवस का शिकार बनी 4 साल की मासूम ने इलाज के दौरान तोड़ा दम
October 6, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

12 वर्षीय मौसेरे भाई की हवस का शिकार बनी 4 साल की मासूम ने इलाज के दौरान तोड़ा दम

(न्यूज़)इगलास कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में 12 वर्षीय मौसेरे भाई की हवस का शिकार बनी 4 साल की मासूम ने रविवार को इलाज के दौरान सफदरजंग अस्पताल में दिल्ली में दम तोड़ दिया।सोमवार की देर रात मासूम का शव लेकर परिवार वालों ने सड़क पर जाम लगा दिया था।उनकी मांग है कि आरोपी की मौसी को तत्काल गिरफ्तार किया जाए।हाथरस के थाना सादाबाद के मई चौकी क्षेत्र के एक गांव निवासी व्यक्ति की पत्नी का जनवरी माह में निधन हो गया था।इगलास क्षेत्र के गांव निवासी उसकी साली उसके बच्चे को अपने साथ ले आई थी।बेटे के शादी के 15 दिन बाद मौसी उसके दोनों बेटों को गांव छोड़ आई।जबकि दोनों बेटियों को अपने पास ही रख लिया था।17 सितंबर को 4 साल की मासूम मौसी के घर पर शौचालय में गंभीर हालत में पड़ी मिली थी।बाद में चाइल्ड लाइन की देखरेख में अस्पताल में भर्ती कराया गया।मासूम के साथ कुकर्म हुआ था।इस मामले में मासूम के पिता की ओर से साली पीड़ित की मौसी और उसके 12 वर्षीय छोटे बेटे के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी।रविवार को जेएन मेडिकल कॉलेज में मासूम को गंभीर हालत में सफदरजंग अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया था, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।मृतका की मौसी फरार है।इसी बात से नाराज मृतका के परिवार और गांव वालों ने सोमवार की देर रात तक शव के साथ सड़क पर जाम लगाकर प्रदर्शन शुरू कर दिया था।जाम लगाने की सूचना पर सादाबाद इंस्पेक्टर बीके सिसोदिया मौके पर पहुंच गए थे।उन्होंने बताया कि परिवार की मांग है कि मौसी के पास मौजूदा मृतका की बड़ी बहन को वापस कराया जाए और आरोपी मौसी को पकड़ा जाए।इंस्पेक्टर प्रवीण कुमार मान के अनुसार कुकर्म के साथ ही हत्या की धारा में मुकदमा तरमीम कर दिया गया है।