ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
10 वर्ष से गरीबों को नहीं नसीब हुई डूडा से बनी कालोनिया
June 22, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश


नगर में अभी भी तमाम परिवार पॉलिथीन छप्पर और टीन के नीचे रह रहे हैं
बिंदकी फतेहपुर
शासन प्रशासन चाहे जो दावे करें लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और भी बयां करती है गरीबों के लिए बनवाई गई 10 वर्ष पहले पक्की कालोनियां अभी भी गरीबों को नसीब नहीं हुई है यह कालोनिया वीरान नजर आती हैं कुछ लोगों ने इनमें भूसा भर रखा है या तो जानवर पाल रखे हैं अभी भी नगर में सैकड़ों ऐसे परिवार हैं जो पॉलीथिन छप्पर और टीम के नीचे रह रहे हैं ऐसे लोगों को यह कालोनियां मिलना चाहिए लेकिन अभी तक नसीब नहीं हो सकी हैं

नगर के पश्चिम उत्तर दिशा में 10 वर्ष पहले नगरीय विकास प्राधिकरण द्वारा आधा सैकड़ा से अधिक पक्की कालोनिया बनवाई गई थी। लेकिन अभी तक यह पक्की कालोनियां गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों को नसीब नहीं हुई है इन कालोनियों में हम भी लगे हैं जिन्हें तार भी खींचे हैं पास में ही नगर पालिका परिषद द्वारा सामुदायिक शौचालय भी बनवाया गया है लेकिन अधिकारियों की गैर जिम्मेदाराना के कारण अभी तक यह कालोनियां जरूरतमंद लोगों को नसीब नहीं हो पाई है इसके कारण लोगों में नाराजगी का माहौल बना रहता है नगर के मोहल्ला पैगंबरपुर निवासी गजराज कहते हैं कि हम लोग सपरिवार कई वर्षों से पॉलीथिन और छप्पर के नीचे रह रहे हैं अभी तक पक्की छत नसीब नहीं हुई है जिसके कारण पूरे साल हम लोग परेशान होते हैं बरसात में पानी टपकता रहता है तेज आंधी पानी आने में हमारे छप्पर और पॉलिथीन उड़ जाते हैं जिसके कारण भारी परेशानी होती है यदि हम लोगों को पक्की छत में मिल जाए तो हमेशा के लिए आसान हो जाए